ताज़ा खबर
 

Gujarat: नशे में धुत शख्स ने कॉलेज में घुसकर लड़कियों को बाल पकड़कर घसीटा, फिर की पिटाई

अहमदाबाद के कॉलेज में एक हिस्ट्रीशीटर नशे में धुत होकर घुसता है और फिर लड़कियों की पिटाई करने के बाद प्रिंसिपल ऑफिस में तोड़फोड़ करता है।

arrestप्रतीकात्मक तस्वीर फोटो सोर्स- जनसत्ता

गुजरात के अहमदबाद से एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। जहां एक नशे में धुत युवक कॉलेज कैंपस में घुसकर लड़कियों को पीटता है और फिर प्रिंसिपल के ऑफिस में जाकर भी तोड़फोड़ करता है। आरोप है कि युवक ने कैंटीन के पास खड़ी लड़कियों के बाल पकड़कर घसीटते हुए उनकी पिटाई की। इस दौरान बीच बचाव करने आए लोगों पर भी उसने हमला कर घायल कर दिया। फिलहाल पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। बताया जा रहा है कि उसका आपराधिक इतिहास है।

National Hindi News, 07 July 2019 LIVE Updates: पढ़ें आज की बड़ी खबरें

टाइम्स नाउ में छपी खबर के मुताबिक, मामला अहमदाबाद के एलडी आर्ट्स कॉलेज का है। जहां मोहन देसाई नाम का शख्स नशे में धुत होकर शुक्रवार को प्रिंसिपल के ऑफिस से उपद्रव मचाते हुए छात्रों पर हमला कर देता है। बताया जा रहा है कि उसने प्रिंसिपल को अपने पांच साथियों के एडमिशन के लिए कहा था, लेकिन जब उनका एडमिशन नहीं हुआ तो वह भड़क उठा। इस दौरान एक 22 वर्षीय महिला जो अपने दोस्तों के साथ कॉलेज कैंटीन के पास खड़ी थी, वह भी देसाई के गुस्से का शिकार हो गई। उसने अचानक लड़की के बालों खींचते हुए पीटना शुरू कर दिया।

इस घटना के बाद गुजरात विश्वविद्यालय पुलिस स्टेशन के पुलिस निरीक्षक एचबी पटेल ने कहा कि देसाई को उसके खिलाफ दायर तीन अलग-अलग शिकायतों में गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने कहा कि वह एक हिस्ट्री-शीटर है। उसके खिलाफ पहले से हमले के तीन मामले दर्ज हैं, जिनमें से एक एलिसब्रिज में और दो 2016 और 2017 के बीच गुजरात विश्वविद्यालय पुलिस थाने में है। उसे जिला बदर भी किया गया था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 दिग्विजय बोले- नोटबंदी के दौरान जमा किए पैसों से विधायकों की खरीद-फरोख्त कर रही BJP
2 शामली: घर लौट रहे मुस्लिम युवक को बुरी तरह पीटा, पीड़ित का आरोप- एसपी विधायक ने दी थी जान लेने की धमकी
3 माता-पिता ईमानदारी से भरें टैक्स इसलिए Income Tax विभाग छात्रों से भरवा रहा घोषणा पत्र, जानें पूरा मामला