ताज़ा खबर
 

Gujarat: पिता की हत्यारोपियों की बेल कैंसल कराना चाहता था दलित युवक, पीट-पीटकर मार दिया गया

गुजरात में एक दलित आरटीआई कार्यकर्ता के बाद अब उसके बेटे की भी हत्या कर दी गई। बताया जा रहा है कि बेटा अपने पिता के हत्यारोपियों की बेल कैंसल कराने की कोशिश कर रहा था।

Author अहमदाबाद | Published on: June 4, 2019 10:02 AM
गुजरात में दलित युवक की हत्या फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

गुजरात के राजकोट में दलित आरटीआई कार्यकर्ता की हत्या के बाद अब उसके बेटे राजेश सोंदर्व की भी हत्या करने का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि नाबालिग अपने पिता के हत्यारोपियों की जमानत कैंसल कराना चाह रहा था लेकिन इस बीच उसकी भी हत्या कर दी गई। दोनों की ही हत्या का आरोप गांव के एक उच्च-जाति के परिवार पर लगा है। कहा जा रहा है कि नाबालिग अपने पिता की हत्या के मामले में आरोपी पक्ष के साथ समझौता नहीं करना चाहता था। इस बीच, गोंडल शहर की एक स्थानीय अदालत ने सोमवार को राजेश की हत्या के आठ आरोपियों में से चार को न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

पिता की हत्या के बाद बेटे की भी हत्या: इस मामले में एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि 19 वर्षीय राजेश सोंदर्व ने जब देखा कि उसके पिता की हत्या के आरोपियों में से एक गांव में खुलेआम घूम रहा है तो उसने अदालत का रुख किया। इस दौरान एक दिन राजेश अपने दोस्त मिलन परमार के साथ राजकोट शहर से कोटड़ा सांगणी तालुका के मानेकवाड़ा गांव अपने घर लौट रहा था लेकिन इस बीच कथित तौर पर कुछ लोगों ने उसे रोक लिया और 22 मई की रात को उसे मौत के घाट उतार दिया। बता दें कि राजेश के पिता जो कि एक आरटीआई कार्यकर्ता थे उनकी हत्या एक साल पहले की गई थी। जिसका केस बेटा राजेश लड़ रहा था।

National Hindi News, 04 June 2019 LIVE Updates: दिन-भर की बड़ी खबरों के लिए क्लिक करें 

क्यों हुई थी राजेश के पिता की हत्या: बताया जा रहा है कि मानेकवाड़ा गांव में विकास परियोजनाओं में भ्रष्टाचार उजागर करने के बाद आरटीआई कार्यकर्ता राजेश के पिता नानजी सोंदर्व की कथित तौर पर गांव के ही उच्च-जाति के लोगों द्वारा 9 मार्च, 2018 को हत्या कर दी गई थी। इस मामले में पुलिस ने मानेकवाड़ा-निवासी महेन्द्रसिंह भीखुभा जडेजा, अजय सिंह जडेजा, जितेन्द्र सिंह चंदूभा जडेजा, जितेन्द्र सिंह, निर्मल सिंह जडेजा, नरेंद्र सिंह जडेजा और जगभाई भारवाड़ को गिरफ्तार किया था। हालांकि, गुजरात हाइकोर्ट ने उन्हें जमानत दे दी थी। बता दें कि हत्याकांड का आरोपी महेन्द्र सिंह कोटडा सांगानी तालुका पंचायत के तत्कालीन कांग्रेस सदस्य बेनाबा जडेजा का पति है और तत्कालीन माणेकवाड़ा गांव के सरपंच भीखुभा जडेजा का बेटा हैं। बताया जा रहा है कि अधिकांश आरोपी आपराधिक प्रवृत्ति के हैं।

इसलिए की गई दलित युवक की हत्या: पुलिस ने कहा कि दलित परिवार ने आरोपियों के खिलाफ उत्पीड़न के लगभग आधा दर्जन अन्य मामले दर्ज किए थे। इससे आरोपियों के बीच उसकी शत्रुता बढ़ गई। यही नहीं आरोपी पक्ष लगातार राजेश पर पिता की हत्या के केस में समझौता करने की बात कह रहे थे लेकिन वह मानने के लिए तैयार नहीं हुआ। जिसके चलते राजेश की भी हत्या की बात कही जा रही है। फिलहाल मामले में चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

ऐसे की गई थी पिटाई: CID की जांच टीम के मुताबिक ने हत्या में आरोपी अजय ने राजेश पर बेलचा के फाइबर हैंडल से उस पर हमला किया था। बकौल CID हमने आरोपियों के पास से पांच प्लास्टिक फाइबर हैंडल बरामद किए हैं, साथ ही आठ मोबाइल फोन भी जब्त किए गए हैं। बताया जा रहा है कि पोस्टमार्टम की प्राथमिक रिपोर्ट के अनुसार, सभी आरोपियों ने पीड़ित को उसके निचले अंगों पर मारा था। हालांकि अभी अंतिम पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार हो रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 जबरन धर्म परिवर्तन: बजरंग दल की शिकायत पर हिरासत में लिए गए ईसाई परिवार के 3 सदस्य, बाद में बोली पुलिस- फर्जी था मामला
2 Tripura: कांग्रेस की महिला कार्यकर्ता का आरोप- उगाही कर रही BJP, कई लोगों को भेजे नोटिस
3 करारी हार के बाद अखिलेश यादव ने तोड़ी चुप्पी, बोले- फरारी और साइकल की रेस जैसे थे लोकसभा चुनाव