ताज़ा खबर
 

ऊंची जाति वालों ने दी थी धमकी फिर भी घोड़ी पर बैठ दुल्हन लेने पहुंचा दलित दूल्हा, पुलिस ने किया एस्कॉर्ट

भाई विपुल ने बताया कि गांव के पास पहुंचने पर ही उन लोगों के पास दरबार समुदाय के 10-15 लोग आए थे। धमकाते हुए उन्होंने कहा था कि दूल्हा घोड़ी नहीं चढ़ेगा, क्योंकि ऐसा सिर्फ कोई शूरवीर ही कर सकता है। दरबार समुदाय के लोग ही घोड़ी चढ़ सकते हैं।

प्रशांत सोलंकी पुलिस की सुरक्षा के बीच घोड़ी चढ़कर दुल्हन लाने गए थे। (फाइल फोटो)

गुजरात में एक दलित युवक की शादी पुलिस की मौजूदगी में हुई। मुख्य कारण- नजदीक में रहने वाले कुछ ऊंची जाति के लोग थे, जिन्होंने उस युवक को धमकाया था कि अगर वह घोड़ी पर सवार होकर दुल्हन लेने आएगा, तो उसकी खैर नहीं। ऐसे में युवक और उसके परिजन ने पुलिस की शरण ली, जिसके बाद पुलिस ने बरात ले जाने के दौरान दूल्हा पक्ष को एस्कॉर्ट किया।

रविवार (17 जून) को गांधीनगर जिले के मंसा तालुका स्थित पारसा गांव में प्रशांत सोलंकी की शादी वर्षा परमार से थी। डेरी प्लांट में कार्यरत सोलंकी मूलरूप से मेहसाना गांव के निवासी हैं। दरबार समुदाय के कुछ लोगों की धमकी पर उन्होंने ही पुलिस से बरात ले जाने के दौरान सुरक्षा दिए जाने की मांग की थी।

बरात के दौरान सोलंकी ने गांव से कुछ किलोमीटर तक का सफर कार में तय किया, जबकि आगे उन्हें डीजे टीम के साथ आयोजनस्थल पर पहुंचना था। दूल्हे के रिश्ते में लगने वाले भाई विपुल ने बताया कि गांव के पास पहुंचने पर ही उन लोगों के पास दरबार समुदाय के 10-15 लोग आए थे। धमकाते हुए उन्होंने कहा था कि दूल्हा घोड़ी नहीं चढ़ेगा, क्योंकि ऐसा सिर्फ कोई शूरवीर ही कर सकता है। दरबार समुदाय के लोग ही घोड़ी चढ़ सकते हैं।

फिर क्या था, दूल्हे के परिजन ने पुलिस बुला ली, जिसके बाद पुलिसकर्मी गांव के आस-पास शादी की रस्म के दौरान मौजूद रहे। गांव के सरपंच राजू पटेल बोले, “गांव के ही कुछ असामाजिक तत्वों ने बरातियों को धमकाया था। लेकिन तत्काल पुलिस ने मामला संभाल लिया।”

हालांकि, इस मामले में अभी तक कोई एफआईआर दर्ज नहीं हुई, क्योंकि बरात में किसी प्रकार की बाधा उत्पन्न नहीं की गई थी। पुलिस का इस बारे में कहना है कि अगर दूल्हा पक्ष कोई शिकायत देता है, तो उस पर उचित कार्रवाई की जाएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App