ताज़ा खबर
 

गुजरात कांग्रेस में बगावत रोकेंगी सोनिया गांधी? विधायकों ने कहा- पार्टी अध्यक्ष तय करें राज्यसभा उम्मीदवारों के नाम

गुजरात के कांग्रेस विधायकों ने राज्य की सीटों पर उम्मीदवार तय करने के लिए पार्टी आलाकमान को अधिकृत किया है। जयपुर में ठहरे गुजरात के कांग्रेस विधायकों से अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के पर्यवक्षकों ने मंगलवार को बैठक कर राज्यसभा चुनाव में उम्मीदवारों के बारे में राय जानी।

Gujarat congress, congress mla, congress mla in Jaipur, sonia gandhi, congress president, rajya sabha election, bjp leader, india news, Hindi news, news in Hindi, latest news, today news in Hindiगुजरात में राज्यसभा की चार सीटों पर चुनाव होना है, जिसमें नामांकन वापस लेने की अंतिम तिथि 18 मार्च है। (फाइल फोटो)

राज्यसभा चुनाव से पहले मध्यप्रदेश में बगावत के बाद अब गुजरात में भी कांग्रेस में बगावत का खतरा मंडरा रहा है। 26 मार्च को ऊपरी सदन के चुनाव से पहले पार्टी ने अपने विधायकों को खरीद फरोख्त से बचाने के लिए उन्हें जयपुर में रखा हुआ है। इस बीच पार्टी में बगावत रोकने की जिम्मेदारी पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी पर आ गई है।

गुजरात के कांग्रेस विधायकों ने राज्य की सीटों पर उम्मीदवार तय करने के लिए पार्टी आलाकमान को अधिकृत किया है। जयपुर में ठहरे गुजरात के कांग्रेस विधायकों से अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के पर्यवक्षकों ने मंगलवार को बैठक कर राज्यसभा चुनाव में उम्मीदवारों के बारे में राय जानी।

पार्टी सूत्रों ने बताया कि बैठक में सभी विधायकों ने समवेत स्वर में प्रस्ताव पारित कर उम्मीदवारों के नाम पर निर्णय लेने के लिये पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को अधिकृत किया। ऐसे में देखना होगा कि सोनिया गांधी की तरफ से तय किए गए उम्मीदवारों से पार्टी के विधायक एकजुट रह पाते हैं या नहीं? विधायकों की राय जानने के बाद पर्यवेक्षक अब दिल्ली जाकर सोनिया गांधी से मिलेंगे।

गुजरात में राज्यसभा की चार सीटों पर चुनाव होना है। इसके लिए कांग्रेस ने दो जबकि भाजपा ने तीन उम्मीदवारों को मैदान में उतारा है। नामांकन वापस लेने की अंतिम तिथि 18 मार्च है। मतदान से पहले गुजरात कांग्रेस के पांच विधायकों ने त्यागपत्र दे दिया है जबकि शेष 68 जयपुर—दिल्ली राष्ट्रीय राजमार्ग स्थित एक लग्जरी होटल में ठहरे हुए हैं। पार्टी ने पिछले तीन दिन में विधायकों को अहमदाबाद से जयपुर शिफ्ट किया है।

182 सदस्यों वाली विधानसभा में एक निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवाणी के समर्थन से कांग्रेस के विधायकों की संख्या 73 है। पार्टी दो उम्मीदवारों को चुनाव मैदान में उतारने की योजना बना रही है लेकिन पांच विधायकों के त्यागपत्र देने से संख्याबल की गणित बिगड़ गई है। 74 विधायकों के आधार पर कांग्रेस दो सीटों पर जीत दर्ज कर सकती थी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 MP सियासी संकटः शिवराज सिंह चौहान की खुली चेतावनी- ‘जी हुजूरी’ करने वाले एक-एक अधिकारी की बना रहा हूं लिस्ट, लेंगे हिसाब
2 पश्चिम बंगालः गोमूत्र को Coronavirus का इलाज बता बेच रहा था शख्स, फर्जीवाड़े के खुलासे पर सरकार का ऐक्शन, अरेस्ट
3 COVID-19 के बीच रेलवे के इन जोन्स ने 10 से बढ़ाकर 50 रुपए कर दिए प्लैटफॉर्म टिकट के दाम, भीड़ घटाने के लिए लिया फैसला
यह पढ़ा क्या?
X