ताज़ा खबर
 

1.5 करोड़ में तीन बच्चों को नौकरी दिलाने का किया था वादा, धोखाधड़ी के आरोप में भाजपा पार्षद गिरफ्तार, पार्टी ने प्राथमिक सदस्यता से किया निलंबित

कॉर्पोरेटर और उनके पति ने हाल ही में गांधीनगर के एक व्यक्ति को 1.5 करोड़ रुपए के बदले उसके तीन बच्चों को बैंकों और भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) में नौकरी देने का वादा किया था।

Author Edited By सिद्धार्थ राय नई दिल्ली | Updated: June 26, 2020 8:23 AM
pakistanपुलिस ने आरोपी टीचर को गिरफ्तार कर लिया है। (सांकेतिक तस्वीर)

गुजरात के मेहसाणा जिले के वडनगर नगरपालिका के एक भाजपा पार्षद को नौकरी रैकेट चलाने के मामले में गांधीनगर पुलिस ने गिरफ्तार किया है। भाजपा पार्षद को धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तार किया गया है, जिसके बाद पार्टी ने उन्हें प्राथमिक सदस्यता से भी निलंबित कर दिया गया है।

कॉर्पोरेटर और उनके पति ने हाल ही में गांधीनगर के एक व्यक्ति को 1.5 करोड़ रुपए के बदले उसके तीन बच्चों को बैंकों और भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) में नौकरी देने का वादा किया था। इस धोखाधड़ी के आरोप में उन्हे गिरफ्तार किया गया है। कॉर्पोरेटर और उनके पति की पहचान रिंकूबेन पटेल और भरत पटेल के रूप में हुई है। दोनों पर धोखाधड़ी और आपराधिक विश्वासघात का आरोप लगाया गया।

रिंकूबेन मेहसाणा जिले की वडनगर नगरपालिका के वार्ड नंबर 7 से भाजपा की पार्षद हैं। इस घटना के बाद मेहसाणा भाजपा के अध्यक्ष नितिन पटेल के एक आदेश से उन्हें पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया गया है। इस मामले में नितिन पटेल का कहना कि कॉर्पोरेटर द्वारा किया गया अपराध पार्टी की विचारधारा के विपरीत हैं और इसलिए उन्हें तत्काल प्रभाव से पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया गया है।

उन्होंने कहा, “हम वडनगर नगरपालिका से भाजपा पार्षद के रूप में उन्हें बाहर करने के लिए कानूनी प्रक्रिया भी शुरू करेंगे।” गांधीनगर के सेक्टर 21 पुलिस स्टेशन ने किशोर प्रजापति नाम के व्यक्ति द्वारा दर्ज कराई गई शिकायत के आधार पर रिंकूबेन और उनके पति के खिलाफ धोखाधड़ी और विश्वासघात का मामला दर्ज किया है।

पुलिस स्टेशन के सूत्रों का कहना है कि रिंकूबेन और उनके पति ने प्रजापति से लगभग 1.56 करोड़ रुपये लिए थे। इसके बदले में उन्होने 2014 से 2015 के बीच प्रजापति के तीन बच्चों को बैंकों और ISRO में नौकरी दिलाने का वादा किया था। प्रजापति की शिकायत काफी समय से लंबित थी और हाल ही में उन्होने एफ़आईआर दर्ज कराई। जिसके बाद कार्यवाही करते हुए पार्षद और उसके पति को गिरफ्तार कर लिया गया है। एक गुप्त सूचना पर कार्रवाई करते हुए, पुलिस ने दोनों को हाल ही में वडनगर शहर से गिरफ्तार किया है। वे दो दिन के पुलिस रिमांड पर हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कोरोना काल में बिहार चुनाव की दस्तक के बीच सियासी घमासान
2 मणिपुर में 15 दिन के लिए लॉकडाउन बढ़ा, तमिलनाडु सरकार एक दो दिन में लेगी फैसला
3 पानीपुरी बेचने वाले की कोरोना से मौत, परिवार की मदद के लिए लोगों ने रखा 5 लाख जुटाने का लक्ष्य, पर 2 दिन में ही इकट्ठा हुए 2 लाख रु.
ये पढ़ा क्या...
X