ताज़ा खबर
 

बॉर्डर खोलने की बात की तो गुजरात बीजेपी प्रमुख ने कांग्रेस नेता से कहा- जाकर पाकिस्‍तान में रहो!

कांग्रेस नेता ने सुझाव दिया था कि राज्य के सुईगाम गांव से पाकिस्तान सीमा को खोल देना चाहिए जिससे कि किसान अपनी उपज को पड़ोसी मुल्क में निर्यात कर सकें। वघानी पर पलटवार करते हुए कांग्रेस ने पूछा कि केंद्र की बीजेपी सरकार पाकिस्तान के प्रति नरम रुख क्यों दिखा रही है?

गुजरात बीजेपी अध्यक्ष जीतू वघानी की फाइल फोटो। (Image Source: Facebook/@jitu.vaghan)

गुजरात बीजेपी अध्यक्ष जीतू वघानी ने सोमवार (31 दिसंबर) को वरिष्ठ कांगेस नेता मधुसूदन मिस्त्री की एक बात पर कहा, ”जाओ और पाकिस्तान में रहो।” दरअसल कांग्रेस नेता ने सुझाव दिया था कि राज्य के सुईगाम गांव से पाकिस्तान सीमा को खोल देना चाहिए जिससे कि किसान अपनी उपज को पड़ोसी मुल्क में निर्यात कर सकें। वघानी पर पलटवार करते हुए कांग्रेस ने पूछा कि केंद्र की बीजेपी सरकार पाकिस्तान के प्रति नरम रुख क्यों दिखा रही है? मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कांग्रेस नेता मधुसूदन मिस्त्री ने पाकिस्तान संबंधी अपना सुझाव साबरकांठा जिले के हिम्मतनगर में 29 दिसंबर को आयोजित पार्टी की एक रैली में दिया था। इस पर जब बीजेपी अध्यक्ष से प्रतिक्रिया मांगी गई तो उन्होंने कहा, ”मधुसूदन भाई को पाकिस्तान जाना चाहिए और वहां रहना चाहिए।” रैली में कांग्रेस नेता ने कहा था कि बनासकांठा जिले के सुईगाम गांव में भारत-पाकिस्तान सीमा को खोलने से राज्य के तीन उत्तरी जिलों के किसानों को लाभ होगा। मिस्त्री ने कहा था, ”कुछ वर्षों पहले इदर कस्बे में मेरी यात्रा के दौरान स्थानीय किसानों ने शिकायत की थी कि उनकी टमाटर की उपज को बाघा बॉर्डर तक पहुंचने में तीन दिन लगते हैं और पाकिस्तान पहुंचने से पहले वहां दो दिन और लगते हैं। नतीजतन, किसानों को उपज का वाजिब दाम नहीं मिल रहा है।”

मिस्त्री ने आगे कहा कि उन्होंने पिछले दिनों किसानों को बता दिया था कि भाजपा सरकार के पास दूरदर्शिता की कमी है। कांग्रेस नेता ने कहा, ”सुईगाम इदर से महज 125 किलोमीटर दूर है। अगर आप सुईगाम में सीमा को खोल देते हैं तो किसान पाकिस्तान को कई वस्तुओं का निर्यात कर सकते हैं। यह व्यापार में वृद्धि करेगा और आखिरकार बनासकांठा, साबरकांठा और पाटन के किसानों को लाभान्वित करेगा।”

मिस्त्री को लेकर वघानी के बयान पर गुजरात कांग्रेस प्रवक्ता मनीष दोशी ने सोमवार को कहा कि बीजेपी नेता को पहले आगामी वाइब्रेंट गुजरात समिट के लिए गुजरात सरकार द्वारा पाकिस्तान को दिए गए निमंत्रण पर अपनी पार्टी का रुख साफ करना चाहिए। दोशी ने कहा, ”बीजेपी नेताओं ने 2014 लोकसभा चुनाव से पहले पाकिस्तान को सबक सिखाने का वादा किया था लेकिन अब उनकी सरकार पाकिस्तान के लिए रेड कारपेट बिछा रही है। बीजेपी को पहले इस अचानक बदलाव के बारे में बताना चाहिए। उन्हें देशवासियों को एक स्पष्टीकरण देना चाहिए।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App