scorecardresearch

गुजरात व‍िधानसभा चुनाव: आप का प्रचार मत करो- अपने मुलाजिमों से यह कहने वाले हीरा कारोबारी ने जॉइन की बीजेपी

आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव इसुदान गढ़वी ने ट्वीट किया, “एक तरफ आप नौकरी नहीं दे पा रहे हैं तो दूसरी तरफ कर्मचारियों को निकालने की धमकी देते है। गुजरातियों को जागने का वक्त आ गया है।”

गुजरात व‍िधानसभा चुनाव: आप का प्रचार मत करो- अपने मुलाजिमों से यह कहने वाले हीरा कारोबारी ने जॉइन की बीजेपी
गुजरात की राजधानी अहमदाबाद में हीरा व्यापारी दिलीप भाई धापा का पार्टी में स्वागत करते भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सीआर पाटिल। (ट्विटर हैंडल-@crpaatil)

गुजरात में जैसे-जैसे चुनाव करीब आ रहा है सत्तारूढ़ भाजपा और आम आदमी पार्टी के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर भी तेज होता जा रहा है। एक तरफ आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल लगातार गुजरात का दौरा लोगों को अपनी ओर जोड़ने में लगे हैं, वहीं दूसरी ओर बुधवार को हीरा व्यापारी दिलीप धापा भाजपा में शामिल हो गये।

खास बात यह है कि दिलीप धापा ने अपने कर्मचारियों को आम आदमी पार्टी (AAP) के प्रचार कार्य से रोकने की सख्त हिदायत दी थी। इस साल के आखिर में होने जा रहे विधानसभा चुनाव से पहले दिलीप धापा के भाजपा में शामिल होने से पार्टी को काफी फायदा मिलेगा। आम आदमी पार्टी ने इस कदम की आलोचना करते हुए दावा किया है कि भाजपा लोगों की इच्छा को दबाने की कोशिश कर रही है।

सूरत के हीरा कारोबारी दिलीप धापा ने मंगलवार शाम को भाजपा के प्रदेश मुख्यालय ‘श्री कमलम’ में पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। गुजरात प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सीआर पाटिल ने अपने ट्विटर हैंडल से उनके पार्टी में शामिल होने की तस्वीर साझा की। पाटिल ने ट्वीट किया, ”मैंने श्रीकमलम में सूरत के हीरा व्यापारी दिलीप धापा का भाजपा में स्वागत किया। उन्होंने अपने फैक्टरी के कर्मचारियों को रेवड़ी विक्रेता पार्टी के लिए प्रचार करने से रोका और चेतावनी दी कि ऐसा करता कोई मिलेगा तो उसे निकाल दिया जाएगा। उन्होंने यह कदम स्वेच्छा से उठाया था।”

दिलीप धापा ने केजरीवाल के मुफ्त की योजनाओं की निंदा की थी

उल्लेखनीय है कि आप के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने गुजरात की सत्ता में आने पर लोगों के लिए कई मुफ्त की योजनाएं शुरू करने का वादा किया है। भाजपा उनके वादों को ‘रेवड़ी’ या मुफ्त का उपहार बता रही है। आप के राष्ट्रीय महासचिव इसुदान गढ़वी ने ट्वीट किया, ”लोकतंत्र में लोग पसंदीदा पार्टी का चुनाव करने के लिए स्वतंत्र हैं। क्या आप गुजरात में लोगों के चुनाव के अधिकार को छीनने वालों और कर्मचारियों को नौकरी से निकालने की धमकी देने वालों को सम्मानित कर गुंडा राज लाना चाहते हैं।”

उन्होंने कहा, ”कहां से आप ऐसी ओछी मानसिकता लाते हैं? एक ओर आप लोगों को नौकरी नहीं दे सकते। अब, आपके अधीन, गुजराती, मौजूदा नौकरी गंवा रहे हैं।” गढ़वी ने कहा कि यह समय गुजरातियों के लिए जागने का है।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 28-09-2022 at 08:15:00 pm