ताज़ा खबर
 

कांग्रेस और हार्दिक के गठजोड़ पर बीजेपी का हमला, डिप्टी सीएम बोले- मूर्ख ने दरख्वास्त दी और मूर्ख ने मानी

गुजरात के डिप्टी सीएम नितिन पटेल ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी और पाटीदार अनामत आंदोलन समिति (पीएएसएस) के नेता हार्दिक पटेल पर जोरदार हमला बोला है।

Author Published on: November 22, 2017 2:21 PM
गुजरात के डिप्टी सीएम नितिन पटेल और पाटीदार अनामत आंदोलन समिति के नेता हार्दिक पटेल (फोटो सोर्स- एएनआई ट्विटर/एक्स्प्रेस फोटो)

गुजरात के डिप्टी सीएम नितिन पटेल ने कांग्रेस और पाटीदार अनामत आंदोलन समिति (पीएएसएस) के नेता हार्दिक पटेल पर जोरदार हमला बोला है। उन्होंने कहा है कि मूर्ख ने दरख्वास्त दी और मूर्ख ने दरख्वास्त मानी और दूसरे को मूर्ख बोलते हैं। दरअसल हार्दिक पटेल ने बुधवार को यह जानकारी दी है कि उनके संगठन और कांग्रेस के बीच पाटीदार समाज को आरक्षण दिए जाने के फॉर्मूले पर सहमति बन गई है। इसके बाद बीजेपी नेता नितिन पटेल ने अहमदाबाद में प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कांग्रेस और हार्दिक पटेल पर जमकर निशाना साधा है।

उन्होंने कहा है, ‘हार्दिक अब कांग्रेस की भाषो बोलने लगे हैं। आज उनके उनकी पोल खुल गई है। कांग्रेस और हार्दिक की जोड़ी गुजरात के पटेल समुदाय को धोखा दे रही है। कांग्रेस के लिए आरक्षण कभी कोई मुद्दा नहीं था, केवल वोटों के लिए कांग्रेस इस मुद्दे पर हार्दिक पटेल से बात कर रही है।’ वहीं बुधवार को ही कांग्रेस के साथ आरक्षण के फॉर्मूले पर सहमति बन जाने की बात की जानकारी देते हुए हार्दिक ने भी बीजेपी पर जमकर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) दो दशकों से अधिक समय से राज्य की सत्ता में है और उसके खिलाफ लड़ाई लड़नी जरूरी है।

पटेल ने पत्रकारों से कहा कि उन्होंने विधान सभा चुनाव में टिकट बंटवारे को लेकर कांग्रेस के साथ कोई सौदा नहीं किया है। पटेल ने आरोप लगाया कि बीजेपी उनके साथियों को 50-50 लाख रुपये के ऑफर देकर तोड़ने की कोशिश कर रही है। हार्दिक पटेल ने कहा कि वो ढाई साल तक किसी भी राजनीतिक पार्टी से नहीं जुड़ेंगे। पटेल ने कहा कि वो बीजेपी से लड़ाई लड़ेंगे क्योंकि उसने पाटीदार समाज पर अत्याचार किया। पटेल ने कहा कि कांग्रेस को वो खुलकर समर्थन नहीं कर रहे हैं लेकिन वो बीजेपी के खिलाफ लड़ रहे हैं तो ये एक तरह से कांग्रेस का समर्थन है। पटेल ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने उन्हें आश्वास्त किया है कि चुनाव में जीत के बाद पाटीदार समाज को उचित प्रतिनिधित्व मिलेगा।

बता दें कि गुजरात में अगले महीने विधान सभा चुनाव हैं। गुजरात में नौ दिसंबर और 14 दिसंबर को विधान सभा चुनाव के लिए मतदान होना है। चुनाव नतीजे 18 दिसंबर को आएंगे। राज्य में कुल 182 विधान सभा सीटें हैं। सरकार बनाने के लिए 92 सीटो पर चुनाव जीतना जरूरी होगा। राज्य में पिछले दो दशकों से ज्यादा समय से भारतीय जनता पार्टी सत्ता में है। साल 2012 के विधान सभा चुनाव में बीजेपी को 116 सीटें मिली थीं

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 वायु प्रदूषण से निपटने के लिए लखनऊ में कृत्रिम बारिश करवाएगी योगी सरकार!