ताज़ा खबर
 

तेलंगाना में सुरक्षाबलों और माओवादियों के बीच भीषण मुठभेड़, आठ नक्सली ढेर

ग्रेहाउंड के विशेष प्रशिक्षित कमांडो ने नक्सलियों को मार गिराया।

Author नई दिल्ली | December 14, 2017 15:33 pm
तेलंगाना में नक्सलियों के साथ बुधवार रात को शुरू हुआ मुठभेड़ गुरुवार सुबह में समाप्त हुआ। (सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

तेलंगाना में सुरक्षाबल के विशेष दस्ते और माओवादियों के बीच भीषण मुठभेड़ में आठ नक्सली मारे गए हैं। जवानों और नक्सलियों के बीच बुधवार देर रात शुरू मुठभेड़ गुरुवार सुबह तकरबीन साढ़े छह बजे खत्म हुआ। नक्सलियों से निपटने के लिए विशेष तौर पर गठित ग्रेहाउंड कमांडो के दस्ते ने आठ नक्सलियों को मार गिराया। आंध्र प्रदेश और तेलंगाना से लगते इलाकों में नक्सली अभी भी सक्रिय हैं।

जानकारी के मुताबिक, मुठभेड़ की घटना तेलंगाना के भद्राद्री कोठागुदम जिले के टेकुलापल्ली गांव में हुई। कमांडो टीम को खुफिया सूत्रों से इलाके में नक्सलियों के होने की खबर मिली थी। इसके बाद सुरक्षाबलों ने जंगल क्षेत्र को घेर कर तलाशी अभियान शुरू कर दिया। इसी दौरान दोनों के बीच गोलियां चलनी शुरू हो गईं। गांव के पास 17 नक्सलियों के होने की सूचना मिली थी। गुरुवार सुबह मुठभेड़ खत्म होने के बाद चलाए गए सर्च ऑपरेशन में आठ माओवादियों के शव बरामद किए गए। नौ नक्सली भागने में सफल रहे। ये माओवादी ओल्ड पीपुल्स वार से अलग हुए चंद्रपुला रेड्डी पोरी बाटा गुट के बताए जाते हैं। हत्या, वसूली और डराने-धमकाने से जुड़े मामलों में इनकी तलाश थी। मारे गए नक्सलियों में से पांच की पहचान हो चुकी है। इनके नाम ई. नरेश, एम. समैया, संजीव, नरसिम्हा अैर अमर हैं। तीन की पहचान सुनिश्चित नहीं हो सकी है। ये सभी नालगोंडा जिले के रहने वाले बताए गए हैं। बताया जाता है कि ये पहले आंध्र-ओडिशा सीमा पर सक्रिय थे और बाद में खम्मम-वारंगल जिले को अपना ठिकाना बना लिया।

मालूम हो कि पिछले कुछ वर्षों में नक्सली घटनाओं में कमी आई है। खासकर पश्चिम बंगाल और झारखंड में सुरक्षा स्थिति में सुधार आने के बाद इनकी गतिविधियों पर अंकुश लगाने में सफलता मिली है। हालांकि, छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा समेत कुछ जिलों में नक्सलियों का अच्छा-खासा प्रभाव है। नक्सलियों से निपटने के लिए जवानों को विशेष प्रशिक्षण भी दिया गया है। इन्हीं जवानों के साथ ग्रेहाउंड कमांडो का बटालियन तैयार किया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App