मंडियों की चर्चा करते हुए बोले BKU के राकेश टिकैत, सरकार का अलग टारगेट मीडिया है, बचना है तो साथ दे दो

महापंचायत में भाग लेने के लिए छत्तीसगढ़ पहुंचे किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि सरकार का अगला टारगेट मीडिया हाउस है। अगर उसे बचना है तो हमारे साथ आ जाए। साथ ही टिकैत ने पंजाब की कांग्रेस सरकार को भी किसानों का कर्जा माफ करने के लिए कहा।

rakesh tikait on media, farmer protest,
किसान नेता राकेश टिकैत (फाइल फोटो- @rakeshtikaitbku)

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत, भारत बंद की सफलता के बाद अब अगले पड़ाव पर निकल गए हैं। टिकैत अब किसान महापंचायत के जरिए किसानों के पक्ष में महौल बनाने में जुट गए हैं। इसी क्रम में वो आज छत्तीसगढ़ पहुंचे, जहां उन्होंने मीडिया को लेकर भी चेतावनी दे दी।

छत्तीसगढ़ में मीडिया से बात करते राकेश टिकैत ने कहा कि सरकार का अगला टारगेट मीडिया है। अगर उनको बचना है तो वो साथ दें। टिकैत ने इस दौरान केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला। मंडियों पर बात करते-करते टिकैत मीडिया पर आ गए। जहां उन्होंने ये बातें कहीं।

टिकैत ने कहा- “दिल्लीवाले को देख लो, कानून बनाकर आधा देश बेच दिया। मंडियां बेच दी मध्यप्रदेश की… 182 मंडी बेचने के लिए उन्होंने निकाल दी है। अब तो ये है कि सब लोग साथ दो, अगल टारगेट मीडिया हाउस है, आपको बचना है तो साथ दे दो, नहीं तो आप भी गए”।

किसान नेता टिकैत से जब छत्तीसगढ़ की सरकार पर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि सरकार तो सरकार है, इनका भी कुछ ना कुछ करेंगे। छत्तीसगढ़ का भी मुद्दा उठाएंगे, लेकिन आज सबसे बड़ी समस्या एमएसपी है।

छत्तीसगढ़ के गरियाबंद जिले के राजिम में ‘किसान महापंचायत’ को संबोधित करने पहुंचे टिकैत ने कहा कि सबसे बड़ी समस्या फसलों और सब्जियों के न्यूनतम समर्थन मूल्य की है। उन्होंने कहा- “हम छत्तीसगढ़ के मुद्दों को उठाएंगे। देश में सबसे बड़ी समस्या एमएसपी की है। हम इस मुद्दे को उठाएंगे। हम इस बारे में बात करेंगे कि राज्य के सब्जी किसानों को कैसे अधिक लाभ हो सकता है और उनके लिए क्या नीतियां बनाने की आवश्यकता है”।

इसके साथ ही राकेश टिकैत ने ट्वीट कर पंजाब की कांग्रेस सरकार से किसानों का कर्जा भी माफ करने के लिए कहा। टिकैत ने ट्वीट कर कहा कि पंजाब की नई सरकार से उम्मीद है कि वो अब सभी किसानों का पूरा कर्ज माफ करेगी। कांग्रेस और कैप्टन का वादा तो नए CM को भी याद होगा?

किसान नेता गुरनाम सिंह चढ़ूनी ने भाजपा पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल पर निशाना साधते हुए कहा कि उनका बयान आता है कि किसान आंदोलन को नक्सलियों का समर्थन है। यह हमारे देश की बदकिस्मती है कि ऐसे लोगों के हाथ में सत्ता चली गई है जो 10 महीने से देश को बचाने के लिए आंदोलन कर रहे किसानों को नक्सली बताते हैं। देश बेचने वालों को देशभक्त बताते हैं।

पढें राज्य समाचार (Rajya News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट