ताज़ा खबर
 

भूमाफियाओं की लिस्ट में आजम खान को शामिल करने की तैयारी! पूर्व सपा मंत्री पर लगे हैं गंभीर आरोप

रामपुर जिला प्रशासन और पुलिस की तरफ से यह कार्रवाई कई स्थानीय नागरिकों की तरफ से शिकायत के बाद शुरू की गई है। लोगों ने शिकायत में कहा कि आजम खान ने अलय हसन की मदद से उनकी जमीन हथिया ली।

Author लखनऊ | July 14, 2019 8:49 AM
इस कार्रवाई में आजम खान के साथ उनके करीबी लोगों का भी नाम शामिल है। (फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश में रामपुर जिला प्रशासन और पुलिस ने समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता और रामपुर से सांसद आजम खान का नाम राज्य में कथित रूप से भूमाफियाओं संबंध रखने वाले लोगों की सूची में शामिल करने की तैयारी शुरू कर दी है। इस सूची में आजम खान के करीबी व रिटायर्ड डीएसपी अलय हसन खान का नाम भी शामिल किया जाएगा।

जिला प्रशासन की तरफ से यह कदम रामपुर के कई लोगों की शिकायत के बाद शुरू की गई है। लोगों ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया है कि रामपुर में आजम खान ने अलय हसन की मदद से उनकी जमीन को हथिया लिया। यह जमीन मोहम्मद जौहर यूनिवर्सिटी के विस्तार के लिए ली गईं। इस काम में अलय हसन ने आजम खान की मदद की।

हसन उस समय आजम के मुख्य सुरक्षा अधिकारी हुआ करते थे। शुक्रवार को पुलिस ने अलय हसन के 24 वर्षीय पुत्र व कारोबारी वसीम को गिरफ्तार किया। वसीम पर कथित रूप से पुलिस दल के साथ दुर्व्यवहार और धमकी देने का आरोप है। पुलिस टीम उस समय अलय हसन के घर की तलाशी ले रही थी। आजमनगर पुलिस स्टेशन के एसएचओ राजीव कुमार ने कहा वसीम के साथ उसकी मां सबीना पर भी कई आरोपों में मामला दर्ज किया गया है।

इससे पहले बृहस्पतिवार को पुलिस ने स्थानीय लोगों की तरफ से जमीन हथियाने की शिकायत के बाद आजम खान, अलय हसन खान के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी। लोगों की हथियाई गई जमीन को बाद में जौहर यूनिवर्सिटी में मिला दिया गया था। इस संबंध में आजम खान के बेटे और विधायक मोहम्मद अब्दुल्ला आजम खान ने दावा किया कि 26 शिकायतकर्ताओं से साल 2006 में जमीन खरीदी गई थी।

इन लोगों को चेक के जरिये भुगतान किया गया था। उन्होंने कहा कि यदि लैंड डीड की जांच की जाए तो यह साफ हो जाएगा। सभी लगाए गए आरोप झूठे हैं। उन्होंने कहा कि पुलिस उनके पिता और अलय हसन के खिलाफ ‘झूठा केस’ दर्ज कर उन्हें परेशान कर रही है। अब्दुल्ला आजम ने कहा पुलिस ने वसीम और उनकी मां के खिलाफ भी झूठे आरोपों में केस दर्ज किया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App