ताज़ा खबर
 

ईद 2016: हलाल करने के लिए खरीदा 21 लाख का बकरा

कानपुर में 21 लाख का बकरा लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। लोग बादल नाम के इस बकरे के साथ सेल्फियां ले रहे हैं।

Author कानपुर | September 13, 2016 20:04 pm
ईद के मौके पर बलि चढ़ेगा 21 लाख का बकरा

यूपी के कानपुर में इस ईद के मौके पर एक खरीदार ने कुर्बानी देने के लिए 21 लाख का बकरा खरीदा।  बकरे के मालिक आकिब खान का कहना है कि बादल नाम का यह बकरा एक खास किस्म की प्रजाति का बकरा है। ऐसा बकरा कई लाख में से एक होता है। इसीलिए इसकी कीमत इतनी ज्यादा है। आकिब के मुताबिक इस बकरे पर उन्होंने रोजाना 1000 से अधिक रुपए खर्च किए हैं। दिन में तीन बार इस बकरे को नहलाया जाता है। आकिब बताते हैं कि इस बकरे की रोजाना की डाइट अन्य बकरों से ज्यादा और बिल्कुल अलग है। बादल इस ईद पर लोगों का आकर्षण केंद्र बना हुआ है। लोग बादल के साथ खूब सेल्फियां ले रहे हैं।

आपको बता दें कि मुस्लिम समुदाय में बकरीद के त्योहार में बकरे की कुर्बानी देने की परंपरा है। बलि देने की इस परंपरा की व्याख्या कुरान शरीफ में की गई है। इसमें कहा गया है कि अल्लाह को यह पसंद है उसकी इबादत करने वाला अपनी सबसे प्यारी चीज की कुर्बानी दे। यह त्योहार पिछले 2000 सालों से मनाया जा रहा है। इस त्योहार को मनाने की शुरुआत तब हुई जब नबी इब्राहिम अल्लाह की इबादत के लिए अपने बेटे की बलि देने को तैयार हो गए। इस त्योहार में जानवरों की बलि देकर उन्हें तीन हिस्सों में बांटा जाता है। एक हिस्सा पड़ोसियों को, दूसरा हिस्सा गरीबों को और तीसरा हिस्सा खुद के लिए रखा जाता है। त्योहार की शुरुआत सुबह की नमाज के साथ की जाती है और सूर्यास्त से पहले जानवरों की बलि दी जाती है। इस मौके पर लोग नए कपड़े पहनते है, एक दूसरे को मुबारकबाद देते हैं। भारत में इस मौके पर मिठाईयां और सिवईयां भी बांटी जाती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App