ताज़ा खबर
 

गोवा: बिना इजाजत डाबोलिम हवाईअड्डे पर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने की रैली, भाजपा नेता ने कहा- किसी परमिशन की नहीं थी जरूरत

हवाई अड्डे के एक शीर्ष अधिकारी ने पुष्टि की कि परिसर में पार्टी को रैली करने के लिए कोई इजाजत नहीं दी गई थी।

Author July 3, 2017 22:13 pm
गोवा हवाई अड्डे पर कार्यकर्ताओं को संबोधित करते बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह। (Photo-PTI)

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह द्वारा गोवा के डाबोलिम हवाईअड्डे पर बैठक लेकर विवाद सोमवार (3 जुलाई) को और तेज हो गया, जब हवाई अड्डे के एक शीर्ष अधिकारी ने पुष्टि की कि परिसर में पार्टी को रैली करने के लिए कोई इजाजत नहीं दी गई थी। भाजपा के राज्य अध्यक्ष विनय तेंदुलकर ने संवाददाताओं से कहा कि पार्टी कार्यकर्ताओं की भीड़ व दूसरे लोग ‘अपने-आप’ हवाईअड्डे पर शाह की मौजूदगी के कारण जमा हो गए और एक अनौपचारिक मुलाकात के लिए किसी इजाजत की जरूरत नहीं थी। तेंदुलकर ने कहा, “अमित शाह गोवा में थे और लोग खुद-ब-खुद उनके स्वागत के लिए जमा हो गए। वह एक प्रतिनिधिमंडल के साथ आए थे और जो लोग विमान से उतरे थे, वे भी पीछे रुक गए। अक्सर लोग बड़े कद वाले नेताओं को देखने के लिए रुक जाते हैं।” भाजपा नेता ने कांग्रेस पर डाबोलिम हवाईअड्डे के निदेशक बी. सी. नेगी का घेराव करने का आरोप लगाते हुए इसे प्रचार पाने का कांग्रेस का तरीका बताया।

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) के सचिव गिरीश चोडांकर की अगुवाई में कांग्रेस के एक प्रतिनिधिमंडल ने नेगी का घेराव किया, जिसके बाद नेगी ने कहा, “कोई इजाजत (रैली की) नहीं दी गई थी.. मैं इसकी जांच करूंगा।” चोडांकर ने स्पष्टीकरण मांगा था कि भाजपा को शनिवार को डाबोलिम अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डा परिसर में पार्टी बैठक करने की अनुमति कैसे दी गई। डाबोलिम पणजी से 40 किमी दूर है। इस बैठक में भाजपा के लगभग 2,500 कार्यकर्ताओं ने भाग लिया था।एक स्थानीय वकील ने शाह के खिलाफ रविवार को एक शिकायत दर्ज काराई थी। इसमें कथित तौर पर बिना इजाजत के बैठक करने का आरोप लगाया गया है।चोडांकर ने हवाईअड्डा निदेशक के कार्यालय पर प्रदर्शन का नेतृत्व किया। उन्होंने कहा कि हवाईअड्डे जैसे एक संवेदनशील जगह पर बैठक का आयोजन भाजपा के सत्ता के दुरुपयोग को साफ तौर पर दिखाता है।

उन्होंने कहा, “अब हवाईअड्डा निदेशक ने कह दिया है कि पार्टी को हवाईअड्डे पर बैठक के लिए कोई इजाजत नहीं दी गई थी। ऐसे में भाजपा व शाह के खिलाफ संवेदनशील जगह पर कार्यक्रम अयोजित करने की जुर्रत को लेकर कार्रवाई की जानी चाहिए।” चोडांकर ने प्रदर्शन के बाद संवाददाताओं से कहा, “यह साफ तौर पर सत्ता के दुरुपयोग का मामला है।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App