ताज़ा खबर
 

भीड़ द्वारा पीट कर हत्याओं पर बोले अमित शाह- कांग्रेस के कार्यकाल में ऐसी घटनाएं ज्यादा हुईं

अमित शाह ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार का बचाव करते हुए कहा है कि भीड़ द्वारा हत्या के सबसे ज्यादा केस साल 2011 से 2013 के बीच, कांग्रेस (केंद्र सरकार) के कार्यकाल के दौरान सामने आए।
भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अमित शाह। (फाइल फोटो)

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने बीते शनिवार (1 जुलाई) को देशभर में भीड़ द्वारा पीट कर हत्याओं के मामले पर अपनी बात रखी। अमित शाह ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार का बचाव करते हुए कहा है कि भीड़ द्वारा हत्या के सबसे ज्यादा केस साल 2011 से 2013 के बीच, कांग्रेस (केंद्र सरकार) के कार्यकाल के दौरान सामने आए। बता दें हाल ही में गौ-तस्करी या गौमांस खाने की अफ्वाह पर भीड़ द्वारा हत्या करने की कई घटनाएं सामने आई हैं। ताजा मामला 29 जून को झारखंड के रामगढ़ इलाके में अलीमुद्दीन की हत्या का है। इन घटनाओं को लेकर जब शाह से सवाल किए गए तो उन्होंने कहा, “मैं तुलना करके इस मुद्दे को हल्का नहीं करना चाहता। मैं इसे लेकर काफी सीरियस हूं लेकिन यह सच है कि साल 2011, 2012 और 2013 में लिंचिंग के कई मामले सामने आए थे। हमारे तीन साल के कार्यकाल के दौरान जितने मामले नहीं हुए, उससे ज्यादा एक साल में इनके(कांग्रेस) कार्यकाल में हुए। मगर कभी यह सवाल नहीं उठाया गया।”

अमित शाह ने यह बातें गोवा में नगर निकायों और पंचायतों के प्रतिनिधियों के एक कार्यक्रम के दौरान कहीं। शाह ने कहा कि पार्टी ऐसे शासन को लेकर प्रतिबद्ध है जिसमें सभी समुदायों के साथ समान व्यवहार हो। वहीं बीफ बैन को लेकर भी उन्होंने अपनी बात रखी। उन्होंने कहा कि गोवा में कांग्रेस की सरकार के दौरान साल 1976 में गौवध पर प्रतिबंध लगाया गया था। चर्चा के दौरान एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, ‘‘जहां तक बीफ पर प्रतिबंध की बात है, इसे लागू करने वाली भाजपा नहीं है। गोवा में पहले से गौ हत्या बंदी है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘यह साल 1976 से यहां है और यह तब हुआ था जब प्रदेश में कांग्रेस की सरकार थी, लेकिन किसी ने कांग्रेस से सवाल नहीं पूछा।’’

वहीं एक अन्य सवाल के जवाब में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने आज कहा कि यह पहली बार हो रहा है जब कश्मीर में अलगाववादियों पर शिकांजा कसा जा रहा है और जल्द ही सुरक्षा बल घाटी में स्थिति को काबू में कर लेंगे। पूर्व रक्षा मंत्री और गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर र्पिरकर भी इस कार्यक्रम में मौजूद थे। शाह ने कहा कि कश्मीर की स्थिति को पिछले चार-पांच महीनों की स्थिति के आधार पर आंका नहीं जा सकता।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. M
    manish agrawal
    Jul 2, 2017 at 8:38 am
    Kitne sharm ki baat hai sattaa main bethi huyi party BJP ke National President, LYNCHING jese gambheer maamle par bhi raajniti se baaz nahi aa rahe ! BJP nishchit roop se, Hindostan ka satyaanaash karke maanegi !
    (0)(0)
    Reply