गोवाः खनन रोक के खिलाफ अभियान चलाने वाले नेता ज्वाइन करेंगे आप, सीएम सावंत के खिलाफ चुनाव लड़ने का ऐलान

गोवा माइनिंग पीपुल्स फ्रंट के संयोजक पुती गांवकर ने घोषणा की है कि वो आम आदमी पार्टी ज्वाइन करेंगे। इसके साथ ही उन्होंने मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत के खिलाफ चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया है।

goa election, goa aap
आप में शामिल होंगे पुति गांवकर (Puti Gaonkar facebook)

गोवा विधानसभा चुनाव से आम आदमी पार्टी को शुक्रवार को एक बड़ी सफलता हाथ लगी है। खनन रोक के खिलाफ अभियान चलाने वाले एक बड़े यूनियन नेता ने केजरीवाल की पार्टी का दामन थामने का ऐलान किया है।

मिली जानकारी के अनुसार गोवा में लौह अयस्क खनन को बहाल करने की मांग करने वाले आंदोलन की अगुवाई कर रहे ट्रेड यूनियन नेता पुती गांवकर ने शुक्रवार को ऐलान किया कि वह सात नवंबर को आम आदमी पार्टी में शामिल होंगे। पोंडा शहर में एक प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए गांवकर ने कहा कि उन्होंने पिछले महीने में दिल्ली के मुख्यमंत्री और आप के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल से मुलाकात के बाद पार्टी में शामिल होने का फैसला किया है।

गोवा माइनिंग पीपुल्स फ्रंट की संयोजक पुती गांवकर ने ये घोषणा करते हुए कहा कि वो मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत के खिलाफ सेंक्वेलिम विधानसभा क्षेत्र से आप के टिकट पर आगामी चुनाव लड़ेंगे। उन्होंने कहा कि उनका उद्देश्य राज्य में खनन को फिर से शुरू करना और भूमि स्वामित्व के सभी मुद्दों को हल करना है।

गांवकर ने हाल ही में गोवा राज्य नवनिर्माण अघाड़ी फोरम की घोषणा की थी। इसका उद्देश्य आगामी राज्य चुनावों में भाजपा को टक्कर देना था। गांवकर ने कहा, ‘बीजेपी पिछले 12 साल में खनन शुरू नहीं कर पाई है। भाजपा अपने हितों की रक्षा के लिए खनन शुरू नहीं कर रही है। सरकार उन लोगों की मदद करने से कतरा रही है जिनके घर बाढ़ में तबाह हो गए। खनन बंद होने से खनन आश्रितों, दुकानदारों, किसानों को परेशानी हो रही है। निगम ने खनन फिर से शुरू कर दिया है। लेकिन, निगम को एक पेशेवर की जरूरत है। अगर मुझे मौका दिया गया तो मैं छह महीने के भीतर इस मुद्दे को हल कर दूंगा”।

पुती ने कहा कि गोवावासियों को एक विकल्प की जरूरत है और मेरे विश्वास में आप विकल्प है। मैंने केजरीवाल से खनन के मुद्दे पर चर्चा की थी और उन्होंने मुझे आश्वासन दिया था कि वह इस मामले का अध्ययन करने के लिए गोवा आएंगे और उसी के अनुसार योजना बनाएंगे। उन्होंने कहा- “मैंने मामले पर जल्द सुनवाई के लिए एक हस्तक्षेप आवेदन दायर किया है और केजरीवाल की कानूनी टीम कानूनी काम की निगरानी करेगी”। बता दें कि उच्चतम न्यायालय ने 2018 में 88 खनन पट्टों को रद्द कर दिया था जिसके बाद गोवा में लौह अयस्क का खनन बंद हो गया है।

पढें राज्य समाचार (Rajya News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट