ताज़ा खबर
 

Goa: कला अकैडमी में पूर्व सीएम मनोहर पर्रिकर का पार्थिव शरीर रखने पर ब्राह्मणों ने कराया शुद्धिकरण, होगी जांच

गोवा के पूर्व सीएम मनोहर पर्रिकर के पार्थिव शरीर को सार्वजनिक श्रद्धांजलि देने के बाद कला अकैडमी ने अपने परिसर में शुद्धिकरण किया। वीडियो और तस्वीरें वायरल होने के बाद लोगों ने इसे पर्रिकर का अपमान करार दिया है।

गोवा के पूर्व सीएम मनोहर पर्रिकर (फोटो सोर्स : इंडियन एक्सप्रेस)

गोवा के पूर्व सीएम मनोहर पर्रिकर का पार्थिव शरीर रखे जाने के बाद राजकीय कला अकैडमी में शुद्धिकरण का मामला सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है। ऐसे में गोवा के कला एवं संस्कृति मंत्री गोविंद गावड़े ने मामले की जांच का आदेश दिया है। बताया जा रहा है कि अकैडमी के चार ब्राह्मण स्टाफ ने शुद्धिकरण कराया था।

पूर्व सीएम पर्रिकर का अपमानः जानकारी के मुताबिक, सोशल मीडिया पर एक वीडियो और कुछ तस्वीरें वायरल हो रहे हैं। इसमें गोवा के पूर्व सीएम मनोहर पर्रिकर का पार्थिव शरीर रखने के बाद कला अकैडमी का शुद्धिकरण कराते दिखाया गया है। वीडियो वायरल होते ही पूरे देश से लोगों की प्रतिक्रिया आने लगीं। अकैडमी के इस शुद्धिकरण को पूर्व सीएम पर्रिकर के अपमान के रूप में देखा जा रहा है।

National Hindi News Today Live: दिनभर की बड़ी खबरें यहां पढ़ें 

हर साल होती है पूजा : बताया जा रहा है कि सरकार की अनुमति के बाद हर साल अकैडमी में पूजा की जाती है, लेकिन इस बार बिना अनुमति के यह पूजा हुई। वहीं, अकैडमी के अधिकारी इस शुद्धिकरण को एक सफाई कार्यक्रम बता रहे हैं।

कला मंत्री गावड़े का बयानः इस मामले में कला मंत्री गावड़े ने फेसबुक पोस्ट लिखा। उनका कहना है कि इन गतिविधियों को गंभीरता से लिया जा रहा है। हम सरकारी इमारतों में अवैज्ञानिक गतिविधियों को बढ़ावा या संरक्षण नहीं दे सकते। जैसा कि कहा जा रहा है कि यह एक संदीकरण (सफाई) अनुष्ठान नहीं है, लेकिन मुझे नहीं पता कि क्या अनुष्ठान किया गया? सोमवार को जांच रिपोर्ट आने के बाद मैं अपनी राय दूंगा। बता दें कि कला अकैडमी में सोमवार (18 मार्च) को गोवा के पूर्व सीएम मनोहर पर्रिकर का पार्थिव शरीर सार्वजनिक श्रद्धांजलि के लिए सुबह 10 से शाम 4 बजे तक रखा गया था। इस श्रद्धांजलि में पीएम मोदी भी शामिल हुए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App