गोवाः ममता की तारीफ कर कांग्रेस के पूर्व मुख्यमंत्री ने असेंबली से दिया इस्तीफा

गोवा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री लुईजिन्हो फलेरियो ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। संभावना जताई जा रही है कांग्रेस नेता ममता बनर्जी की पाटी तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं।

Faleiro resignation, goa election, goa congress
इस्तीफा सौंपते लुईजिन्हो फलेरियो (फोटो- ANI)

गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता लुईजिन्हो फलेरियो ने सोमवार को राज्य विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। अटकलें लगाई जा रही थी कि वो कांग्रेस छोड़कर तृणमूल में शामिल हो सकते हैं।

अगले साल होने वाले गोवा विधानसभा चुनाव में अब तृणमूल कांग्रेस भी एंट्री करने की तैयारी कर रही है। पार्टी की नजर यहां दूसरी पार्टी के कुछ बड़े नेताओं पर है। ऐसी संभावना जताई जा रही है कि कांग्रेस के बड़े नेता लुईजिन्हो ममता की पार्टी के साथ जा सकते हैं। आज इस्तीफा देने से पहले उन्होंने बंगाल की सीएम ममता बनर्जी की जमकर तारीफ की थी।

इस्तीफा देने से कुछ मिनट पहले फलेरियो ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी की प्रशंसा की और कहा कि देश को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का मुकाबला करने के लिए उनके जैसे नेता की जरूरत है।

फलेरियो, नवेलिम विधानसभा सीट से विधायक थे। अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए उन्हें गोवा कांग्रेस की प्रचार समिति का प्रमुख बनाया गया था। फलेरियो ने विधानसभा अध्यक्ष राजेश पाटनेकर को अपना इस्तीफा सौंप दिया है।

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा- “मैं कुछ लोगों से मिला। उन्होंने कहा कि मैं 40 साल से कांग्रेसी हूं। मैं कांग्रेस परिवार का कांग्रेसी बना रहूंगा। सभी चार कांग्रेसियों में ममता हैं, जिन्होंने मोदी को कड़ी टक्कर दी है। पीएम मोदी की बंगाल में 200 बैठकें थीं। अमित शाह की 250 बैठकें थीं। तब ईडी, सीबीआई थी। लेकिन ममता का फॉर्मूला जीत गया।”

सूत्रों ने कहा कि वह तृणमूल कांग्रेस में शामिल होने के लिए बुधवार को कोलकाता जा सकते हैं। अगर फलेरियो तृणमूल के साथ जाते हैं तो ये दूसरा मौका होगा जब किसी बड़े नेता ने कांग्रेस का दामन छोड़ तृणमूल का हाथ थामा होगा। इससे पहले सुष्मिता देब कुछ दिन पहले ही तृणमूल में शामिल हो चुकीं है। सुष्मिता देब को अगले साल होने वाले चुनाव से पहले पार्टी ने त्रिपुरा में एक बड़ी भूमिका दी है।

फलेरियो के इस्तीफे के साथ ही 40 सदस्यीय सदन में कांग्रेस विधायकों की संख्या घटकर चार हो गई है। 2017 के राज्य विधानसभा चुनावों में कांग्रेस ने 17 सीटें जीती थीं, लेकिन बाद में कई विधायकों ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया। जुलाई 2019 में, 10 विधायकों ने पार्टी छोड़ दी और सत्तारूढ़ भाजपा में शामिल हो गए थे।

पढें राज्य समाचार (Rajya News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट