ताज़ा खबर
 

बलात्‍कार की घटनाओं पर बीजेपी नेता बोलीं- सबको सुरक्षा नहीं दे सकते

भाजपा नेता सुलक्षणा रावत का कहना है कि भाजपा की महिला विंग पर्यटन विभाग से यह अपील करेगी कि राज्य के विभिन्न बीच और अलग-अलग हिस्सों में सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएं।

गोवा भाजपा की महिला विंग की चीफ सुलक्षणा सावंत। (image source-Facebook)

‘सरकार हर किसी को सुरक्षा नहीं दे सकती’ बलात्कार की बढ़ती घटनाओं पर ये कहना है कि गोवा भाजपा की महिला विंग चीफ सुलक्षणा सावंत का। सुलक्षणा सावंत ने कहा कि हमें लोगों की मानसिकता बदलने की जरुरत है। हम हर किसी को सुरक्षा नहीं दे सकते, लेकिन हर किसी को दूसरों के प्रति रक्षक बनना होगा। बता दें कि गोवा में बीते माह एक महिला के साथ गैंगरेप की घटना सामने आयी थी। इसी मुद्दे पर शनिवार को सुलक्षणा सावंत ने ये बात कहीं। बता दें कि 25 मई को गोवा के बेटालबेटिम बीच पर 3 पर्यटकों द्वारा 20 वर्षीय एक युवती के साथ गैंगरेप किया गया था। जिसके बाद राज्य में महिला सुरक्षा के मुद्दे पर तीखी बहस छिड़ गई थी।

उल्लेखनीय है कि गोवा में हर साल 70 से ज्यादा पर्यटक आते हैं, जिसमें 5 लाख विदेशी पर्यटक होते हैं। भाजपा नेता सुलक्षणा रावत का कहना है कि भाजपा की महिला विंग पर्यटन विभाग से यह अपील करेगी कि राज्य के विभिन्न बीच और अलग-अलग हिस्सों में सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएं, जिनकी मदद से महिलाओं के साथ छेड़छाड़ की घटनाओं पर लगाम लगायी जा सकेगी। सावंत ने आगे कहा कि आजकल बलात्कार के मामलों में बढ़ोत्तरी का कारण ये भी है कि अब ज्यादा महिलाएं इसके खिलाफ आगे आने लगी हैं और इस अपराध की रिपोर्ट दर्ज कराने लगी हैं। सुलक्षणा सावंत का कहना है कि पहले ऐसा नहीं होता था और बलात्कार के कुछ ही मामले दर्ज किए जाते थे।

गौरतलब है कि बीते दिनों बलात्कार के मुद्दे पर विवादास्पद बयानबाजी को लेकर कई नेता खबरों में आ चुके हैं। इसी साल अप्रैल में केन्द्रीय मंत्री संतोष गंगवार ने कहा था कि भारत जैसे बड़े देश में 1-2 बलात्कार के मामलों को लेकर मुद्दा नहीं बनाया जाना चाहिए। इस तरह की घटनाएं दुर्भाग्यपूर्ण हैं, लेकिन इन्हें रोका नहीं जा सकता। भारत जैसे बड़े देश में इसे लेकर मुद्दा भी नहीं बनाया जाना चाहिए। इससे पहले साल 2015 में गोवा के पर्यटन मंत्री दिलीप परुलेकर ने कहा था दिल्ली की 2 महिलाओं के साथ बलात्कार के मुद्दे पर बोलते हुए कहा था कि पर्यटन स्थलों पर इस तरह ‘छोटी’ घटनाएं हो जाती हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App