ताज़ा खबर
 

झारखंड में शुरू हुई ‘ग्लोबल स्किल समिट’ में जुटे 12 देशों के राजदूत, CM रघुबर दास ने किया उद्घाटन

झारखंड सीएम बोले, 'कौशल विकास के क्षेत्र में देश और दुनिया में झारखंड इतिहास रच रहा है। मुझे पूरा विश्वास है कि अगले 10 साल में झारखंड दुनिया के विकसित राष्ट्रों की बराबरी करेगा।'

ग्लोबल स्किल समिट 2019 का उद्घाटन (फोटोः स्थानीय सोर्स)

झारखंड की राजधानी रांची में गुरुवार को ग्लोबल स्किल समिट-2019 की शुरुआत हुई। इसका उद्घाटन राज्य के मुख्यमंत्री रघुबर दास ने किया। कार्यक्रम में राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू, केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा और राज्य सरकार के कई मंत्री भी मौजूद थे। इस समिट में आठ एमओयू (मेमोरेंडम ऑफ अंडरस्टैंडिंग) भी साइन किए जाएंगे। समिट में 12 देशों के राजदूतों समेत कई विदेशी प्रतिनिधिमंडल भी शामिल हो रहे हैं।

’10 साल में दुनिया की बराबरी कर लेगा झारखंड’: कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, ‘कौशल विकास के क्षेत्र में देश और दुनिया में झारखंड इतिहास रच रहा है। इसके लिए नौजवानों, कॉर्पोरेट सेक्टर और झारखंड सरकार की टीम को धन्यवाद। मुझे पूरा विश्वास है कि अगले 10 साल में झारखंड दुनिया के विकसित राष्ट्रों की बराबरी करेगा।’ उन्होंने नियुक्ति पत्र पाने वाले करीब एक लाख नौजवानों को शुभकामनाएं भी दीं।

‘रोजगार पर सवाल उठाने वालों को जवाब है ये’: वहीं पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा, ‘झारखंड में दुनिया की अर्थव्यवस्था को संभालने की क्षमता है। स्किल समिट 2019 युवा कुंभ के समान है। स्वामी विवेकानंद की जयंती की पूर्व संध्या पर झारखंड में 17 देशों के प्रतिनिधि मौजूद हैं। इसके लिए झारखंड सरकार बधाई की पात्र है। केंद्र सरकार ने गरीब सवर्णों के लिए 10 फीसदी आरक्षण की व्यवस्था की। इसके बाद लोगों ने पूछा कि नौकरी कहां है कि आप आरक्षण देंगे। उन्होंने कहा कि रांची में ग्लोबल समिट का ये आयोजन उनके लिए जवाब है। दुनिया के संपन्न देशों में कामगारों की जरुरत है। कृषि, खनन, उद्योग, निर्माण, पर्यटन, संस्कृति उद्योग से जुड़ी मांगों को झारखंड के युवा ही पूरा कर सकते हैं।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App