गीता के श्लोक पर तीन दिन झूमा लंदन, ब्रिटिश संसद में 175 भारतीयों ने की श्रीमद्भागवत की स्थापना

10 अगस्त को जब हाउस ऑफ लॉर्ड्स और हाउस ऑफ कॉमन्स में भव्य कार्यक्रम के बीच पवित्र और सर्वमान्य ग्रंथ श्रीमद्भागवद गीता की स्थापना की गई तो पूरा लंदन भगवत गीता के श्‍लोकों की पवित्र ध्वनि और शंखनाद से गूंजायमान हो उठा।

लंदन में गीता जयंती कार्यक्रम के मौक पर 175 भारतीय प्रतिनिधि भी मौजूद रहे।

ब्रिटेन की संसद में 9 से 11 अगस्त तक अंतर्राष्‍ट्रीय गीता जयंती महोत्‍सव का आयोजन किया गया। इसमें भारत से 175 प्रतिनिधियों ने शिरकत की। 10 अगस्त को जब हाउस ऑफ लॉर्ड्स और हाउस ऑफ कॉमन्स में भव्य कार्यक्रम के बीच पवित्र और सर्वमान्य ग्रंथ श्रीमद्भागवद गीता की स्थापना की गई तो पूरा लंदन भगवत गीता के श्‍लोकों की पवित्र ध्वनि और शंखनाद से गूंजायमान हो उठा। लंदन में ऐसा नज़ारा पहले कभी नहीं दिखा था जिसमें लंदनवासी भगवान श्रीकृष्ण के उपदेशों को सुन मुग्ध थे।

महोत्‍सव के दूसरे दिन यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ लंदन के लोगान हाल में भी बड़ी संख्‍या में लोग उमड़े। हॉल में मौजूद लोगों ने पीले रंग का अंग वस्त्र धारण किया था। इस अवसर पर आयोजित गीता आख्यान में गीता मर्मज्ञों ने भगवत गीता के गूढ़ रहस्यों पर अपने विचार रखे। लंदन में आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लेने और गीता-ज्ञान के लिए ब्रिटेन के कई शहरों से बड़ी काफी संख्‍या में भारतवंशी जुटे थे। भारतीय मूल के लोगों के अलावा ब्रिटिश नागरिकों के साथ दुनिया के कई देशों के लोगों ने भी इसमें हिस्सा लिया। कार्यक्र का आयोजन कुरुक्षेत्र विकास निगम की ओर से किया गया था।

हरियाणा सरकार की ओर से राज्य के उद्योग मंत्री विपुल गोयल विशेष रूप से इस समारोह में मौजूद थे। गोयल इस समारोह को सफल बनाने के लिए लगातार प्रयत्नशील रहे हैं। इस अवसर पर गोयल ने लोगों से अपील की सभी लोग खुद की प्रेरणा से गीता के प्रचार के लिए ब्रांड एम्बेसडर बनें। उन्होंने उम्मीद जताई कि ऐसा करने से न केवल पूरी दुनिया में शांति, सदभाव और भाईचारा होगा बल्कि सभी की तरक्की भी होगी।

कार्यक्रम में हरियाणा के राज्यपाल सत्य नारायण आर्य के प्रतिनिधि के तौर पर उनके सचिव विजय दहिया और राज्य सरकार के वरिष्ठ अधिकारीगण, हरियाणा से 174 गणमान्य नागरिकों का एक प्रतिनिधिमंडल भी शामिल था। इससे पहले 9 अगस्त को कार्यक्रम का आगाज़ ब्रिटेन की सत्तारूढ़ कंजरवेटिव पार्टी के वाइस चेयरमैन पॉल स्कल्ली और विशिष्ट अतिथि हरियाणा के उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने की। कार्यक्रम में भारतीय उच्चायुक्त समेत बांग्लादेश, मारीशस और नेपाल के राजदूत भी मौजूद थे।

Next Stories
1 Facebook पर लाइव आकर फांसी के फंदे से झूला Delhi Metro का कर्मचारी, मौत
2 BJP सांसद दीया कुमारी का दावा- भगवान राम के पुत्र कुश का वंशज है हमारा परिवार
3 बिजली चोरी के मामले में दिल्ली High Court ने सुनाई 50 पेड़ की लगाने की सजा, फिर कही यह बात
यह पढ़ा क्या?
X