ताज़ा खबर
 

UP: चेन्नई एक्सप्रेस में बदमाशों ने बोला धावा, ज्वैलरी-कैश के साथ एक यात्री की मां का अस्थि कलश भी लूटा

पुलिस के मुताबिक, बदमाश एसी कोच में घुसना चाहते थे, लेकिन दरवाजे बंद होने के कारण सफल नहीं हो सके। इसके बाद उन्होंने एस-1, एस-2 और एस-3 स्लीपर कोच को निशाना बनाया।

Saharanpur, Uttar Pradeshप्रतीकात्मक तस्वीर। फोटो सोर्स : इंडियन एक्सप्रेस

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले में शनिवार तड़के करीब ढाई बजे बदमाशों ने चेन्नई एक्सप्रेस में धावा बोल दिया। उन्होंने चेन्नई एक्सप्रेस को निशाना बनाया और तीन कोच में जमकर लूटपाट की। इस दौरान बदमाश ज्वैलरी और कैश लूटने के साथ-साथ एक यात्री की मां का अस्थि कलश भी ले गए। पीड़ितों ने मामले की जानकारी पुलिस को दी है, जिसके बाद जांच शुरू कर दी गई।

कीमती सामान के चक्कर में ले गए अस्थि कलश : पुलिस के मुताबिक, चेन्नई निवासी एक शख्स अपनी मां की अस्थियां प्रवाहित करने के लिए हरिद्वार जा रहा था। बदमाशों ने कीमती सामान के चक्कर में अस्थि कलश लूट लिया। बताया जा रहा है कि पीड़ित ने उन्हें समझाने की कोशिश की, लेकिन बदमाशों को तमिल समझ नहीं आई।

एसी कोच को निशाना बनाना चाहते थे बदमाश : पुलिस का कहना है कि बदमाश एसी कोच को निशाना बनाना चाहते थे, लेकिन गेट नहीं खुलने के कारण वे स्लीपर कोच में घुस गए। उन्होंने एस-1, एस-2 और एस-3 कोच में 9 यात्रियों से लूटपाट की। वहीं, सहारनपुर से रुड़की तक जमकर कोहराम मचाया। इस दौरान ट्रेन के इन तीन कोच में कोई भी पुलिसकर्मी मौजूद नहीं था।

आईआईटी के प्रोफेसर को भी लूटा : बदमाशों ने रुड़की आईआईटी के प्रोफेसर श्रीकुमार को भी निशाना बनाया। वे अपनी पत्नी, मां और चाची के साथ सफर कर रहे थे। बदमाशों ने उनसे सोने की 2 चेन और 30 हजार रुपए लूट लिए। श्रीकुमार ने सहारनपुर जीआरपी में रिपोर्ट दर्ज कराई है। वहीं, मामले की जानकारी मिलने के बाद रेलवे के वरिष्ठ अधिकारी सहारनपुर पहुंच गए थे। बताया जा रहा है कि वारदात को अंजाम देने के बाद बदमाश चलती ट्रेन से कूदकर फरार हो गए।

Next Stories
1 पर्रिकर जैसा कोई नहींः गोवा के सीएम के तौर पर बने सादगी की मिसाल, पढ़ें मनोहर की जिंदगी की दस बड़ी बातें
2 Goa: कांग्रेस बोली- पर्रिकर के बाद BJP के साथ अब कोई दल नहीं, हमें मिले सरकार बनाने का न्योता
3 मनोहर पर्रिकर पहले ऐसे रक्षामंत्री, जो खुद गए थे शहीदों को श्रद्धांजलि देने, कानपुर को बताया था वीरों की भूमि
चुनावी चैलेंज
X