कैराना के गैंगस्टर ने ज़मानत छुड़वाकर किया सरेंडर, भाजपा बोली- सीएम योगी के पहुंचने से डरा फुरकान

फुरकान 2014 में स्थानीय व्यापार मंडल के कोषाध्यक्ष विनोद सिंघल की दिनदहाड़े हत्या का आरोपी है और इन दिनों जमानत पर बाहर था। उसे ‘कैराना का खौफ’ कहा जाता था।

सोमवार को उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कैराना से पलायन कर वापस लौटे लोगों से मुलाक़ात की। (फोटो: ट्विटर/ BJP4UP)

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ का कहना है कि अपराधियों के प्रति जीरो टालरेंस की पॉलिसी पर लगातार काम हो रहा है। कानून-व्यवस्था से खिलवाड़ करने वाले को किसी भी तरह से छूट नहीं दी जाएगी। सत्तारूढ़ भाजपा का मानना है कि योगी जी की सख्ती का नतीजा है कि बड़े से बड़े अपराधी अब घबड़ाकर इधर-उधर भागने में लगे हैं। तीन दिन पहले 8 नवंबर को सीएम योगी के पश्चिमी यूपी के शामली जिले के कैराना दौरे पर थे। वहां उन्होंने कुछ पीड़ितों और उनके परिवारों से मिले और उन्हें सुरक्षा का भरोसा दिया।

सीएम योगी के कैराना दौरे के कुछ घंटों बाद ही गुंबद मोहल्ला निवासी कुख्यात बदमाश फुरकान ने अपनी जमानत को खत्म करवाकर कोर्ट में सरेंडर कर दिया। फुरकान 2014 में स्थानीय व्यापार मंडल के कोषाध्यक्ष विनोद सिंघल की दिनदहाड़े हत्या का आरोपी है और इन दिनों जमानत पर बाहर था। उसे ‘कैराना का खौफ’ कहा जाता था।

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता शलभमणि त्रिपाठी के मुताबिक, “खूंखार अपराधी फुरकान योगीजी के शामली पहुंचने की खबर लगते ही भाग कर कोर्ट से ज़मानत तुड़वाई और वापस जेल पहुंच गया।”

योगी सरकार बनने के बाद पुलिस ने उसे 2017 में गिरफ्तार कर लिया था, लेकिन वह जमानत पर छूटकर जेल से बाहर आ गया था। उस दौरान शामली में हुए एनकाउंटर में फुरकान घायल भी हो गया था। आरोप है कि जेल से निकलने के बाद उसने फिर से व्यापारियों से रंगदारी मांगनी शुरू कर दी थी। उस पर 50 हजार रुपए का इनाम भी घोषित किया गया था।

8 नवंबर को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कैराना में एक जनसभा गुंडों को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा था, “जो हमारी बहन-बेटियों की इज्जत के साथ खिलवाड़ करेगा उसकी पीढ़ियां भूल जाएंगी कैसे दंगा होता है।”

उन्होंने कहा था, “पिछले चार साल में आपने देखा होगा कि कैराना कस्बे में यहां के व्यापारी और नागरिकों को पलायन के लिए मजबूर करने वाले अपराधी स्वयं पलायन करने के लिए मजबूर हो गए। किसी अपराधी या किसी माफिया की हैसियत नहीं कि वह सिर उठा कर सड़कों पर चल सके और अगर किसी ने निर्दोष नागरिक और व्यापारी पर गोली मारने का दुस्साहस किया तो वह गोली उस व्यापारी और नागरिक पर तो नहीं लगेगी, लेकिन उल्टे उसकी ही छाती को भेदते हुए उसको ही दूसरे लोक की यात्रा पर भेज दिया गया।”

हिंसा और गुंडा राज से पीड़ित होकर वर्षों पहले कैराना से पलायन करने और फिर वापसी करने वाले परिवारों से मुख्यमंत्री अपने दौरे के दौरान मुलाकात की। सीएम योगी ने इन परिवारों से कहा कि आप लोगों को डरने की जरूरत नहीं है, सरकार पूरी तरह से आपके साथ है। अपराधियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई होगी।

पढें राज्य समाचार (Rajya News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट