ताज़ा खबर
 

बलात्कार पीड़िता को स्कूल ने दिया दाखिला देने से इनकार! बोर्डिंग में चार लड़कों ने किया था गैंगरेप

मामला 16 सितंबर को सामने आया। चार में से 3 आरोपी को हरिद्वार स्थित बाल सुधार गृह भेज दिया गया। वहीं, एक वयस्क आरोपी स्कूली लड़के और स्कूल प्रशासन के पांच लोगों को देहरादून जिला जेल भेजा गया।

प्रतीकात्मक तस्वीर

देहरादून के एक स्कूल पर आरोप है कि उसने 16 साल की उस लड़की को दाखिला देने से इनकार कर दिया, जिसका दो महीने पहले शहर के बाहर स्थित एक बोर्डिंग स्कूल में कथित तौर पर गैंगरेप हुआ था। आरोप है कि स्कूल ने यह दलील दी कि बलात्कार पीड़ित को एडमिशन नहीं दिया जा सकता। गुरुवार को, पीड़िता की वकील अरुणा नेगी चौहान ने दावा किया, ‘सितंबर के आखिरी हफ्ते में लड़की के घरवाले देहरादून के विभिन्न सीबीएसई स्कूलों में गए ताकि उनकी बेटी को दसवीं में दाखिला मिला सके। हालांकि, जहां कई स्कूलों ने परफॉर्मेंस और दूसरी वजहों का हवाला देकर एडमिशन नहीं दिया, वहीं 27 सितंबर को शहर के एक स्कूल ने यह कहते हुए एडमिशन देने से इनकार कर दिया कि वह रेप पीड़ित को भर्ती नहीं कर सकता।’

वकील के मुताबिक, पीड़ित को दूसरे शहर के एक स्कूल में एडमिशन मिल गया है। बता दें कि इसी साल 14 अगस्त को लड़की के साथ कथित तौर पर 4 लड़कों ने बोर्डिंग स्कूल परिसर के अंदर ही गैंगरेप किया। लड़की वहीं पढ़ाई कर रही थी। मामला 16 सितंबर को सामने आया। चार में से 3 आरोपी को हरिद्वार स्थित बाल सुधार गृह भेज दिया गया। वहीं, एक वयस्क आरोपी स्कूली लड़के और स्कूल प्रशासन के पांच लोगों को देहरादून जिला जेल भेजा गया। पीड़िता के वकील ने देहरादून के उस स्कूल के नाम का खुलासा नहीं किया, जिसने कथित तौर पर रेप का हवाला देकर पीड़िता को दाखिला नहीं दिया। हालांकि, वकील ने बताया कि उन्होंने स्कूल की शिकायत पुलिस, सीबीएसई और जिला प्रशासन से की है।

देहरादून के सीनियर सुपरीटेंडेंट ऑफ पुलिस ने कहा, ‘हमने पीड़ित के परिवार से बात की। पीड़ित लड़की पढ़ाई में काफी कमजोर है, इसलिए यह समझा जा सकता है कि उसे कई स्कूलों ने दाखिला देने से इनकार कर दिया। हालांकि, हम उस मामले की जांच कर रहे हैं जब एक खास स्कूल ने लड़की को रेप पीड़ित बताते हुए एडमिशन देने से इनकार कर दिया।’ बता दें कि सीबीएसई ने 24 सितंबर को उस स्कूल से संबद्धता खत्म कर ली थी, जिसके परिसर में गैंगरेप की वारदात हुई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 बढ़ रही है दिल्ली और केंद्र सरकार की लड़ाई
2 पूर्व सांसद के बेटे ने खुलेआम लहराया था असलहा, अब होटल और रेस्तरां में हथियार ले जाने पर लगी रोक
3 डीयू में एस्मा लागू करने की कोशिश, शिक्षकों ने जताया विरोध
ये पढ़ा क्या?
X