ताज़ा खबर
 

सेना के लिए बनीं दवाएं ब्लैक मार्केट में बेचने वाले गिरफ्तार, इन शहरों से गैंग को मिलती थी डायरेक्ट सप्लाई

गैंग के लोग दवाओं के पैकेट पर लगे 'डिफेंस पर्सनल ओनली' के टैग को केमिकल का इस्तेमाल कर साफ कर देते थे। इसके बाद इन दवाओं को निजी दुकानों पर बेचा जाता था।

Arrest-620x400प्रतीकात्मक तस्वीर (इंडियन एक्सप्रेस)

नवी मुंबई पुलिस ने एक ऐसे गैंग को पकड़ा है जिस पर सैनिकों के उपयोग में आने वाली दवाएं बेचने का आरोप है। फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (एफडीए) की तरफ से वाशी पुलिस को की गई शिकायत के बाद नौ आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। क्राइम ब्रांच के अधिकारियों ने कहा कि आरोपियों ने सेना के लिए आई दवाओं को ब्लैक मार्केट में भेज दिया।

इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक क्राइम ब्रांच के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘हमने नौ लोगों को गिरफ्तार किया है, इनमें से कुछ सनपाड़ा नाम की एक फर्म के लिए काम कर रहे थे। ये दवाइयां जम्मू, अमृतसर, लखनऊ, पुणे और अन्य शहरों से आती थीं। गैंग के लोग दवाओं के पैकेट पर लगे ‘डिफेंस पर्सनल ओनली’ के टैग को केमिकल का इस्तेमाल कर साफ कर देते थे। इसके बाद इन दवाओं को निजी दुकानों पर बेचा जाता था।

National Hindi News, 21 May 2019 LIVE Updates: दिनभर की बड़ी खबरों के लिए क्लिक करें

उन्होंने कहा, ‘आमतौर पर डिफेंस सेक्टर में इस्तेमाल होने वाली दवाएं बनाने के लिए निर्माताओं को सब्सिडी मिलती है। ये लोग सरकार को चूना लगाकर पैसे कमा रहे थे।’ मुख्य आरोपी की पहचान महेश नागनसुरे (36), सचिन वाडस्कर (29) और सचिन बलदेवा (41) के रूप में हुई है। ये सभी नागपाड़ा के श्री समर्थ डिस्ट्रीब्यूटर्स में काम करते थे।

पुलिस ने कहा कि इनके अलावा सभी आरोपी सप्लायर हैं। इनमें पुणे की रॉयल फार्मा से नीरज सिंह (26), दिल्ली की विशाल फार्मा से संजय गर्ग (49) और दिल्ली की सद्गुरु फार्मा में काम करने वाले तरुण मदान (30) भी शामिल हैं। इन सभी को एफडीए एक्ट के अंतर्गत गिरफ्तार किया गया है। फिलहाल मीडिया को गिरफ्तारी होने वालों में शामिल तीन अन्य लोगों की जानकारी नहीं मिली है। पुलिस ने इस मामले में आगे की जांच भी शुरू कर दी है। जल्द ही इस मामले में और भी कई नाम सामने आने की संभावना है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Kanpur: जंगल में पत्नी का गला घोंट रहा था युवक, बुजुर्ग ने विरोध किया तो स्कॉर्पियो से कुचलकर मार डाला
2 UP: बाल सुधार गृह से 5 बंदी हुए फरार, मीडिया से बोले कैदी- यहां पर भूत का है खतरा
3 नितिन गडकरी को एग्जिट पोल के नतीजों पर नहीं भरोसा! कहा- फाइनल रिजल्ट नहीं है
ये पढ़ा क्या?
X