ताज़ा खबर
 

कोरोनाः हरियाणा में हफ्ते भर का लॉकडाउन, ओडिशा में भी 5 मई से 14 दिन की बंदी; दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री के पिता का देहांत

दोनों राज्यों में कोविड-19 की वजह से कई लोगों की जानें गई हैं। अस्पतालों में आक्सीजन की कमी, बेडों की कमी और पर्याप्त वेंटिलेटर की उपलब्धता नहीं होने से लगातार लोग संक्रमित हो रहे हैं।

corona, lockdownकोरोना टास्क फोर्स की सलाह है कि देश में तुरंत लॉकडाउन लगाया जाए। (PTI)।

कोरोना वायरस महामारी के केसों में लगातार तेजी आने और मौतों का सिलसिला जारी रहने पर हरियाणा सरकार ने 3 मई सोमवार से एक हफ्ते का पूरी तरह से लॉकडाउन लगाने की घोषणा की है। हरियाणा के गृह मंत्री अनिज विज ने बताया कि राज्य में लॉकडाउन के नियमों का सख्ती से पालन कराया जाएगा। इससे पहले राज्य के नौ जिलों में सप्ताहांत कर्फ्यू लागू किया गया था। इसी तरह ओडिशा सरकार ने भी राज्य मेंं 14 दिन का बंदी का ऐलान किया है। ओडिशा में यह बंदी पांच मई से शुरू होगी और 19 मई तक जारी रहेगी। इस बीच दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट करके जानकारी दी है कि राज्य के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के पिता का कोविड-19 के कारण रविवार को निधन हो गया है।

हरियाणा सरकार ने कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में तेज वृद्धि के मद्देनजर राज्य में तीन मई से एक सप्ताह का लॉकडाउन लागू करने की रविवार को घोषणा की। राज्य के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने रविवार को ट्वीट किया, “तीन मई से पूरे राज्य में सात दिन का लॉकडाउन लागू किया जाएगा।” हरियाणा में शनिवार को कोरोना वायरस संक्रमण से 125 लोगों की मौत के बाद मृतकों की कुल संख्या 4,341 हो गई। इसके अलावा संक्रमण के 13,588 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की संख्या 5,01,566 तक पहुंच गई। दोनों राज्यों में कोविड-19 की वजह से कई लोगों की जानें गई हैं। अस्पतालों में आक्सीजन की कमी, बेडों की कमी और पर्याप्त वेंटिलेटर की उपलब्धता नहीं होने से लगातार लोग संक्रमित हो रहे हैं।

इस पर नियंत्रण के लिए दोनों राज्यों की सरकारों ने लॉकडाउन लगाने का फैसला किया। इससे कोरोना वायरस की चेन को तोड़ने में मदद मिलेगी। लॉकडाउन के दौरान जरूरी सेवाओं को छोड़कर सब कुछ बंद रहेगा।

ओडिशा के मुख्य सचिव एससी मोहपात्रा की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि सप्ताहांत को छोड़कर सभी अन्य दिनों में जरूरी सेवाएं उपलब्ध रहेंगी। आदेश में कहा गया है, “पांच मई (बुधवार) 2021 की सुबह पांच बजे से 19 मई (बुधवार) 2021 तक पूरे राज्य में लॉकडाउन रहेगा।” आधिकारिक आदेश में कहा गया है कि लोगों को सुबह छह बजे से दोपहर 12 बजे के बीच उनके घरों के 500 मीटर के दायरे में जरूरी चीजे खरीदने की इजाजत दी जाएगी।

सप्ताहांत के दौरान, वे सिर्फ चिकित्सीय सेवा के लिए ही घर से निकल सकेंगे। आदेश में कहा गया है कि लॉकडाउन और सप्ताहांत बंद किसी भी चुनाव संबंधी कार्य पर लागू नहीं होगा जैसे पिपिली विधानसभा सीट पर उपचुनाव कराने में शामिल कर्मियों की आवाजाही। पिपिली में 16 मई को उपचुनाव होना है। आदेश में कहा गया है कि लॉकडाउन का मकसद आम लोगों की आवाजाही को नियंत्रित करना है और सामान लाने-जाने वाली गाड़ियों पर कोई पाबंदी नहीं होगी।

Next Stories
1 कोरोना: ‘यूपी कोविड केयर फंड’ भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गया है सरकार श्वेत पत्र जारी करे- कांग्रेस
2 कोरोना काल में UP का हाल: अस्पताल की लापरवाही का शूट कर लिया VIDEO, तो पत्रकार की गर्भवती पत्नी को नर्सिंग होम से निकाला
3 काउंटिंग के बीच बंगाल में EC के आदेश की उड़ी धज्जियां, असनसोल में TMC समर्थकों ने बीच सड़क पर पटाखे; समझाने आई पुलिस तो चिल्लाने लगे- “खेलो होबे”
यह पढ़ा क्या?
X