scorecardresearch

Noida Omax Socity Case: नोएडा से मेरठ जाने के दौरान श्रीकांत त्यागी ने 15 मर्तबा बदली थी कार, पुलिस की आंखों में 4 दिनों तक झोंकता रहा धूल

Shrikant Tyagi News: श्रीकांत त्यागी को 8 अक्टूबर, 2018 को योगी आदित्यनाथ सरकार के पहले कार्यकाल के दौरान तीन सशस्त्र अंगरक्षक प्रदान किए गए थे।

Noida Omax Socity Case: नोएडा से मेरठ जाने के दौरान श्रीकांत त्यागी ने 15 मर्तबा बदली थी कार, पुलिस की आंखों में 4 दिनों तक झोंकता रहा धूल
UP News: श्रीकांत त्यागी ने पुलिस ने बचने के लिए ये तरकीबें अपनाई थीं (Photo Credit- PTI)

Noida Omax Socity Case: नोएडा में महिला से मारपीट का मामला दर्ज कर फरार हुए श्रीकांत त्यागी को मंगलवार (9 अगस्त) को मेरठ से पकड़ लिया गया। भागते समय अपना पीछा कर रहे पुलिस वालों से बचने के लिए श्रीकांत ने 15 बार वाहनों को बदला। इन चार दिनों के दौरान श्रीकांत त्यागी ने तीन राज्यों में पुलिस की पुलिस से बचकर भागा। नोएडा से दिल्ली फिर उत्तर प्रदेश से होते हुए उत्तराखंड तक भागा। त्यागी ने कुछ समय के लिए ऋषिकेश और हरिद्वार में आराम किया। इससे पहले कि पुलिस उसे पहाड़ी राज्य में पकड़ पाती वो फिर यूपी के सहारनपुर चला गया वहां से बागपत और फिर मेरठ चला गया जहां वह एक करीबी दोस्त के यहां छिप गया।

शुक्रवार को नोएडा से भागने के बाद त्यागी सीधे दिल्ली एयरपोर्ट के लिए रवाना हुआ था लेकिन उस रात जब तक वह इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर पहुंचा तब तक उसकी नोएडा हाउसिंग सोसाइटी में रहने वाली एक महिला को गाली देने और मारपीट करने का उसका वीडियो वायरल हो चुका था। गिरफ्तारी के डर से उसने हवाई अड्डे पर जाने की योजना को छोड़ दिया और अंडरग्राउंड हो गया।

फोन और गैजेट्स को भी बदल दिया था

शीर्ष पुलिस अधिकारियों के मुताबिक, त्यागी की निशानदेही पर नोएडा पुलिस की आठ टीमें सक्रिय थीं। बाद में यूपी एसटीएफ की चार टीमों को अपनी रैंक बढ़ाने के लिए जोड़ा गया। स्वघोषित भाजपा कार्यकर्ता की तलाश में यूपी एसटीएफ की एक बड़ी निगरानी टीम भी शामिल थी। सिर्फ कार ही नहीं इस दौरान त्यागी ने मोबाइल फोन सहित इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स और उपकरणों को भी बदल दिया था ताकि पुलिस का पता न चले।

श्रीकांत त्यागी को मिली थी Government Security

इंडिया टुडे के मुताबिक, श्रीकांत त्यागी को 8 अक्टूबर, 2018 को योगी आदित्यनाथ सरकार के पहले कार्यकाल के दौरान तीन सशस्त्र अंगरक्षक प्रदान किए गए थे। त्यागी भाजपा के किसान मोर्चा के राष्ट्रीय कार्यकारी सदस्य होने का दावा करते हैं। जिस समय उन्हें सुरक्षा प्रदान की गई थी उस समय अरविंद कुमार उत्तर प्रदेश के गृह विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव थे और गाजियाबाद के एसएसपी वैभव कृष्ण थे। गाजियाबाद एसएसपी मुनिराज ने श्रीकांत त्यागी को सुरक्षा विवरण जारी करने पर यूपी सरकार को विस्तृत रिपोर्ट भेजी है। सूत्रों के मुताबिक उसे सुरक्षा मुहैया कराने में शामिल लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जा सकती है।

Shrikant Tyagi के खनन माफिया से लिंक!

सूत्रों ने आगे बताया कि पुलिस श्रीकांत त्यागी और खनन माफिया के बीच संभावित संबंधों की जांच कर रही है। कथित तौर पर नेता का सोनभद्र-मिर्जापुर इलाके में खनन का बड़ा कारोबार है। श्रीकांत त्यागी ने नोएडा के सेक्टर-93बी में ग्रैंड ओमेक्स सोसाइटी के अंदर एक महिला के साथ कथित तौर पर मारपीट की और अपशब्दों का इस्तेमाल किया था।

Omax Socity Case: ये था पूरा मामला

यह घटना तब हुई जब महिला ने नियमों के उल्लंघन का हवाला देते हुए श्रीकांत त्यागी द्वारा कुछ पेड़ लगाने का विरोध किया, जबकि उन्होंने दावा किया कि ऐसा करने के उनके अधिकार के भीतर है। त्यागी ने अपना आपा खो दिया और उसे धक्का दे दिया। उन्होंने उनके खिलाफ अपशब्दों का भी इस्तेमाल किया। इस पूरी घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट