ताज़ा खबर
 

मध्य प्रदेश की नीमच जेल से फरार हुए 4 कैदी, पुलिस ने घोषित किया 50-50 हजार का इनाम

मध्य प्रदेश की नीमच जेल से 4 कैदियों के फरार होने की खबर है। मामले की जानकारी मिलने के बाद पुलिस प्रशासन ने चारों कैदियों पर 50-50 हजार रुपए का इनाम घोषित कर दिया है।

Author नीमच | June 23, 2019 5:06 PM
प्रतीकात्मक फोटो (फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

मध्य प्रदेश की नीमच जिला जेल से 4 कैदी रविवार सुबह फरार हो गए। मामले की जानकारी मिलने के बाद जेल प्रशासन ने उनकी तलाश शुरू कर दी। साथ ही, फरार कैदियों पर 50-50 हजार रुपए का इनाम भी घोषित कर दिया गया है। बता दें कि पुलिस फरार कैदियों की तलाश में जगह-जगह दबिश दे रही है। पुलिस की कोशिश है कि आरोपियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार कर लिया जाए।

घोषित किया गया इनाम: न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, मध्य प्रदेश पुलिस के डीजी जेल संजय चौधरी ने बताया कि कैदियों के फरार होने के मामले को काफी गंभीरता से लिया जा रहा है। जेल मामलों से जुड़े सभी बड़े अधिकारी नीमच पहुंच रहे हैं। वहीं, चारों फरार कैदियों पर 50-50 हजार रुपए का इनाम घोषित कर दिया गया है।

National Hindi News, 23 June 2019 LIVE Updates: पढ़ें आज की बड़ी खबरें

रस्सी के सहारे भागे: डीजी जेल सुनील चौधरी के मुताबिक, फरार कैदियों में से एक स्थानीय कैदी है। अनुमान है कि उसके साथियों ने घटना को अंजाम देने में मदद की होगी। चारों कैदी रस्सी की मदद से भागे, जो बाहर की तरफ से जेल में फेंकी गई। ऐसे में अनुमान है कि जेल के बाहर कैदियों का मददगार मौजूद था।

तलाश में जुटी पुलिस : डीजी जेल ने बताया कि पुलिस की कई टीमें फरार कैदियों की तलाश में जुट गई हैं। साथ ही, नजदीकी राज्यों जैसे महाराष्ट्र और राजस्थान की पुलिस से भी संपर्क किया जा रहा है। इस मामले में जेल प्रशासन से रिपोर्ट भी मांगी गई है।

Bihar News Today, 20 June 2019: बिहार से जुड़ी हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

बीजेपी ने कानून व्यवस्था पर बोला हमला: नीमच जेल से कैदियों के फरार होने पर राजनीति शुरू हो गई है। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा, ‘‘मध्य प्रदेश में अराजकता का दौर जारी है। एक तरफ पुलिस ने एक युवक को पीट-पीटकर मार दिया। वहीं, नीमच में जेल तोड़कर अपराधी आसानी से भाग रहे हैं। यह जेल ब्रेक की घटना इसलिए गंभीर है, क्योंकि सत्ता पक्ष के कई विधायक जेल में बंद दुर्दांत कैदियों को सुविधाएं देने की बात करते हैं।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App