ताज़ा खबर
 

नंदनकानन चिड़ियाघर में वायरस से चार हाथियों की मौत, टीका भी नहीं उपलब्ध, असम और केरल के विशेषज्ञों की मांगी गई मदद

एंडोथेलियोट्रोफिक हर्प्स वायरस (ईईएचवी) की वजह से दनकानन चिड़ियाघर में चार हाथियों की मौत हो गई। इस तरह के वायरस को फैलने को रोकने के लिए कोई टीका उपलब्ध नहीं है, इसलिए राज्य सरकार ने विशेषज्ञों से सहायता मांगी है।

Author Published on: September 22, 2019 1:21 PM
प्रतीकात्मक तस्वीर फोटो सोर्स-इंडियन एक्सप्रेस

ओडिशा के नंदनकानन चिड़ियाघर में एक वायरस की वजह से चार हाथियों की मौत हो गई। ओडिशा सरकार ने इस वायरस से निपटने के लिए असम और केरल के विशेषज्ञों से सहायता मांगी है। इन हाथियों के बच्चों की मौत एंडोथेलियोट्रोफिक हर्प्स वायरस (ईईएचवी) की वजह से एक महीने के भीतर हुई है। ईईएचवी वायरस ज्यादातर हाथियों के 15 साल तक के बच्चों को प्रभावित करता है।

वायरस रोकने के लिए उपलब्ध नहीं टीकाः ओडिशा के वन एवं पर्यावरण मंत्री बी कारूखा ने शनिवार ( 21 सितंबर) को बताया, ‘‘ राज्य सरकार ने असम और केरल के विशेषज्ञों से संपर्क किया है। वहां भी इसी तरह के वायरस ने हाथियों की जान ली थी।’’ इस तरह के वायरस को फैलने को रोकने के लिए कोई टीका उपलब्ध नहीं है, इसलिए राज्य सरकार ने विशेषज्ञों से सहायता मांगी है।
National Hindi News, 22 September 2019 LIVE Updates: देश की खबरों के लिए यहां क्लिक करें
वायरस की वजह से हुई मौतः मंत्री ने बताया कि जेल के आठ हाथियों में से चार की मौत इस वायरस की वजह से हुई है। हाथियों को बचाने की कोशिश जा रही है। हालिया मौत शनिवार रात में हुई। एक मादा हाथी ‘गौरी’ की मौत हुई। बचे हुए चार हाथियों में से तीन व्यस्क हैं।मंत्री ने कहा कि ज्यादातर हाथी राज्य के अलग-अलग जंगल क्षेत्र से लाए गए हैं। उनके रक्त के नमूने लिए जाएंगे ताकि इस वायरस को जंगल में फैलने से रोका जा सके।
Uttar Pradesh Rains, Weather Forecast Today Live Updates: उत्तर प्रदेश में आई बाढ़ की खबरों के लिए क्लिक करें

हाथियों को बचाने के लिए उठाए जा रहे कदमः नंदनकानन चिड़ियाघर के उप निदेशक जयंत दास ने कहा कि चिड़ियाघर में हाथियों की जान बचाने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि इसकी कोई जानकारी नहीं है कि वायरस से बाकी बचे हाथी प्रभावित हैं या नहीं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 चिन्मयानंद पर रेप का आरोप लगाने वाली भी हो सकती है गिरफ्तार, पुलिस ने लॉ स्टूडेंट व 3 दोस्तों पर दर्ज किया केस
2 ‘वंदे मातरम स्वीकार न करने वालों को भारत में रहने का हक नहीं’, मोदी सरकार के मंत्री प्रताप सारंगी की राय