ताज़ा खबर
 

संघ के बाद अब बीजेपी सरकार के कार्यक्रम में पहुंचे पूर्व राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी

नागपुर में संघ के कार्यक्रम में भाग लेने के बाद पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी रविवार को हरियाणा के भाजपा सरकार के एक कार्यक्रम में शमिल हुए। यहां कई परियोजनाओं का उद्घाटन किया।

पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी हरियाणा सरकार के कार्यक्रम में पहुंचे। (Photo: ANI)

संघ के कार्यक्रम में शामिल होने के बाद पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी रविवार (2 सितंबर) को हरियाणा के भाजपा सरकार के एक कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे। उन्होंने मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के साथ स्मार्टग्राम योजना की परियोजनाओं का उद्घाटन किया। वर्ष 2016 में प्रणव मुखर्जी ने गुरुग्राम के हरचंदपुर और नयागांव को इस योजना के अंतर्गत गोद लिया था। इसके बाद से इस गांव में कई सुविधाएं दी गई। गांव को आदर्श गांव बनाने का प्रयास किया जा रहा है। बता दें कि इससे पहले प्रणब मुखर्जी ने नागपुर में आरएसएस के कार्यक्रम में भाग लिया था। यहां उन्होंने अपने संबोधन में राष्ट्र, राष्ट्रवाद और देशभक्ति पर विचार व्यक्त किए थे। उनके द्वारा इस कार्यक्रम में भाग लेने पर कांग्रेस व अन्य विपक्षी दलों ने उनकी आलोचना की थी।

शनिवार को मुखर्जी के कार्यालय ने एक बयान जारी किया था जिसमें कहा गया है कि वह राज्य सरकार द्वारा दिए गए एक निमंत्रण पर रविवार को गुरुग्राम जा रहे हैं। यहां वह पिछले दो वर्षों के दौरान बीजेपी सरकार द्वारा शुरू की गई परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे। बयान में कहा गया था, “वह (प्रणब मुखर्जी) 2 सितंबर, 2018 को हरियाणा सरकार के निमंत्रण पर मुख्यमंत्री के एमएल खट्टर के साथ शुरू होने वाली परियोजनाओं का उद्घाटन करने के लिए गुड़गांव जा रहे हैं।” हरियाणा में स्मार्टग्राम परियोजना की शुरूआत वर्ष 2016 में शुरू हुई थी, जब मुखर्जी राष्ट्रपति थे और उन्होंने कुछ गांवों को गोद लिया था।

बता दें कि इससे पहले मीडिया में ऐसी खबर आ रही थी कि  ‘प्रणब मुखर्जी फाउंडेशन’ हरियाणा में आरएसएस के साथ सहयोग कर सकती है। लेकिन उनके कार्यालय ने ऐसी सभी रिपोर्टों से इंकार कर दिया। यह स्पष्ट किया कि न तो कोई अभी किसी तरह का सहयोग किया जा रहा है और न हीं आगे ऐसा करने की कोई योजना है।” इस साल मार्च महीने में प्रणब मुखर्जी और प्रसिद्ध उद्योगपति रतन टाटा ने ‘प्रणव मुखर्जी फाउंडेशन’ को लॉन्च किया था। फाउंडेशन की डायरेक्टर ओमिता पॉल के मुताबिक,”इस फाउंडेशन का मिशन उन परियोजनाओं को शुरू करने, सहयोग करने और पूरा करना है जो ग्रामीण, अर्ध शहरी और शहरी क्षेत्रों में जीवन की गुणवत्ता में सुधार के लिए ज्ञान, रचनात्मकता और खोज की शुरूआत व उपयोग करेंगे।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App