ताज़ा खबर
 

लाल चंदन की तस्‍करी का रैकेट चलाने के आरोप में पूर्व मॉडल और एयरहोस्‍टेस गिरफ्तार

25 साल की संगीता चटर्जी को चित्‍तूर पुलिस ने उसके कोलकाता स्‍थ‍ित अपार्टमेंट से गिरफ्तार किया।
इस साल चार जनवरी को चार चीनी नागरिकों को छह टन लाल चंदन की लकड़ी रखने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। वे कथित तौर पर इसे तस्‍करी के जरिए चीन भेजने वाले थे।

25 साल की एक पूर्व मॉडल और एयर होस्‍टेस संगीता चटर्जी को चित्‍तूर पुलिस ने उसके कोलकाता स्‍थ‍ित अपार्टमेंट से गिरफ्तार किया है। संगीता पर आरोप है कि वह पूरे देश में लाल चंदन की तस्‍करी का गिरोह चलाती थी।

अधिकारियों का कहना है कि संगीता कुख्‍यात अंतरराष्‍ट्रीय चंदन तस्‍कर मार्कोंदन लक्ष्‍मण उर्फ लक्ष्‍मण डांगे उर्फ तमांग की गर्लफ्रेंड थी। उसे 2014 में चित्‍तूर पुलिस ने नेपाल से गिरफ्तार किया था। लक्ष्‍मण के कबूलनामे और चित्‍तूर पुलिस की जांच में यह पाया गया कि उसकी गर्लफ्रेंड संगीता को न केवल उसकी तस्‍करी से जुड़ी गतिविधियों की जानकारी थी, बल्‍क‍ि उसने लक्ष्मण की मुंबई, चेन्‍नई, बेंगलुरु और कोलकाता में बैठे तस्‍करों से संपर्क करने में मदद की। संगीता कोलकाता में रहती है और उसकी यहां प्रॉपर्टी भी है।

चित्‍तूर पुलिस की स्‍पेशल इन्‍वेस्‍ट‍िगेशन टीम ने संगीता को कोलकाता की अदालत में पेश किया ताकि ट्रांजिट रिमांड की मांग की जा सके। हालांकि, इसी दौरान उसे अंतरिम जमानत मिल गई। कोर्ट ने उसे 18 मई को चित्‍तूर की अदालत में पेश होने के आदेश दिए हैं।

अधिकारियों का कहना है संगीता ने थोड़े वक्‍त के लिए एयर होस्‍टेस का काम किया। हालांकि, उसका मुख्‍य काम देश और विदेशों में लाल चंदन की तस्‍करी में मदद करना था। लक्ष्‍मण की गिरफ्तारी के बाद वह कुछ दिन के लिए सुस्‍त रही और किसी तरह का लेनदेन नहीं किया। हालांकि, पुलिसवालों को उसके बारे में जानकारी तब मिली, जब उसने हवाला के जरिए 10 करोड़ रुपए का लेनदेन किया। उसने करीब एक करोड़ रुपए अपने नौ बैंक अकाउंट्स में भी जमा कराए। पुलिस ने उसके बैंक अकाउंट और चार फ्लैट सीज कर दिए। इसके अलावा, उसकी संपत्‍त‍ि से जुड़े सैकड़ों दस्‍तावेज भी जब्‍त कर लिए हैं।

एसपी एस श्रीनिवास ने बताया कि संगीता सिर्फ एसएससी तक पढ़ी है और टीवी विज्ञापनों के लिए मॉडलिंग भी कर चुकी है। बाद में उसने कोर्स किया और एयर होस्‍टेस बन गई। वह कोलकाता में लक्ष्‍मण के संपर्क में आई क्‍योंकि वह वहां लगातार आता रहता था। लक्ष्‍मण का कोलकाता में अड्डा था। संगीता ने लक्ष्‍मण को पूरे भारत में मौजूद ‘एजेंट्स’ से संपर्क करने में मदद की। ये कथित एजेंट्स वे लोग थे जो तस्‍करी नेटवर्क से जुड़कर लाल चंदन विदेश भेजते थे। संगीता को यह भी पता था कि लाल चंदन के गोदाम कहां हैं।

कौन है लक्ष्‍मण
लक्ष्‍मण मणिपुर का रहने वाला है। हालांकि, वह चेन्‍नई में सेटल था। वहां उसकी पत्‍नी भी है। 2014 में अरेस्‍ट होने से पहले वह चित्‍तूर, करनूल और कडप्‍पा जिले में काटे जाने वाले लाल चंदन के पेड़ों का सबसे बड़ा तस्‍कर था। पुलिस के मुताबिक, वह अक्‍सर शानदार पार्टियां देता था और हवाई यात्राएं करता था। ऐसी ही एक पार्टी में उसकी संगीता से जानपहचान हुई थी। फिलहाल कोलकाता में कैंप कर रहे श्रीनिवास ने बताया कि पुलिस संगीता को कोर्ट में पेश करके ट्रांजिट वॉरंट के लिए अप्‍लाई करने ही वाली थी, लेकिन आरोपी के जानने वालों ने जमानत के लिए 20 वकीलों की टीम हायर की। और तो और संगीता खुद को बीमार बताकर अस्‍पताल में भी भर्ती हो गई, लेकिन डॉक्‍टरों ने उसे फिट बताकर तुरंत डिस्‍चार्ज भी कर दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.