ताज़ा खबर
 

VIDEO: PM मोदी की तारीफों में पूर्व अलगाववादी नेता ने बांधे पुल, देखिए कैसे बोला NC और कांग्रेस पर हमला

सज्जाद लोन के भाषण का वीडियो इंटरनेट पर तेजी से वायरल हो रहा है। यह उन्होंने जनवरी 2017 में जम्मू-कश्मीर विधानसभा में दिया था।

कश्मीरी नेता सज्जाद लोन ने अपने भाषण में पीएम नरेंद्र मोदी को एक अच्छा इंसान बताया था।

कश्मीर के एक पूर्व अलगाववादी नेता का वीडियो सोशल मीडिया पर आजकल वायरल हो रहा है। वह इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का तारीफ करते दिखता है। कहता है कि वह भाजपा सरकार का शुक्रगुजार है। मोदी जी की पार्टी की सरकार बनते ही उसे और उसके बच्चों को पासपोर्ट-वीजा मिल गया। वह उनके स्वभाव से आश्चर्यचकित है। वहीं, उसने नेशनल कॉन्फ्रेंस (एनसी) और कांग्रेस इस बाबत आड़े हाथों लिया। कहा कि दोनों ही पार्टियों का रिकॉर्ड भ्रष्टाचार और सांप्रदायिक दंगों के मामले में सबसे खराब है। लोन कैबिनेट में समाज कल्याण और विज्ञान एवं प्रोद्योगिकी मंत्री हैं। यहां हंदवाड़ा से वह विधायक हैं और अब्दुल घनी लोन के सबसे छोटे बेटे हैं, जिन्हें 21 मई 2002 को श्रीनगर में हुई जनसभा में अज्ञात शख्स ने गोली मार दी थी। लोन पहले हुर्रियत कॉन्फ्रेंस में थे। पिता की हत्या के बाद उन्होंने पीपल्स कॉन्फ्रेंस की स्थापना की और मुख्यधारा की राजनीति में आए।

इंटरनेट पर उनके भाषण का एक वीडियो वायरल हो रहा है, जो उन्होंने जनवरी 2017 में जम्मू-कश्मीर विधानसभा में दिया था। चार मिनट 55 सेकेंड के वीडियो में उन्होंने पीएम की जमकर तारीफ की थी। कहा, “पीएम अच्छे इंसान हैं। मैं उनके जमीन से जुड़े हुए स्वभाव को देखकर आश्चर्यचकित रह गया था। राज्य में वह निवेश लाना चाहते हैं। मैं फर्क नहीं कर पाता हूं कि मैं पीएम से बात कर रहा हूं या अपने बड़े भाई से।”

आगे एनसी और कांग्रेस पर हमला बोला। उमर अब्दुल्ला पर राज्य में लोगों की मौतों पर राजनीति करने का आरोप लगाया था। वह बोले कि अगर कोई राजनीतिक पार्टी है, जो हत्याओं के मामले में पहले नंबर पर है तो वह भाजपा नहीं बल्कि कांग्रेस है। मैं भाजपा का शुक्रगुजार हूं। उन्होंने मुझे पासपोर्ट दिया। मेरे बच्चों को वीजा दिया। इन लोगों (एनसी) ने कुछ नहीं दिया। भाजपा सरकार आते ही मुझे फौरन पासपोर्ट/वीजा मिल गए थे। अल्लाह मोदी जी को खुश रखे। एनसी और कांग्रेस का नाम भ्रष्टाचार और सांप्रदायिक दंगे के मामले में आगे रहा है, जिसमें इन्हें कोई हरा नहीं सकता।

पैलेट गन के मसले कहा कि हम उन्हें खरीदकर नहीं लाते। एनसी खरीदती है। कौन अपने ही लोगों को मारना चाहेगा? वह तब मुद्दा था, जिसने पुलिस को उन्हें इस्तेमाल करने के लिए मजबूर किया। एनसी पैलेट गन क्यों लाई थी? होली खेलने के लिए? अलगाववादी नेताओं को अब लगता है कि वह भारत का पक्ष लेते हैं। लोन अपने ऐसे बयानों से घाटी में भारत विरोधी ताकतों के निशाने पर आ रहे हैं। एक कश्मीरी अखबार की मानें, तो हिज्बुल मुजाहिद्दीन के आतंकी उन्हें मौत के घाट उतारने की कोशिश कर चुके हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App