भाजपा छोड़ चुकीं सावित्री बाई फुले को पुलिस ने ‘धक्का दे’ गाड़ी में बैठाया, पूर्व IAS ने योगी सरकार को घेरा

वीडियो ट्वीट करके कहा कि “#दलित नेत्री हैं, BJP छोड़ चुकी हैं। बस इतना पर्याप्त हैं, पुलिस से धक्के मरवाने, बेईज्जत करने के लिए। देखिए, कैसे जानवर की तरह पटक दिया गाड़ी की शीट पर!”

Lakhimpur Kheri, Violence
पूर्व सांसद सावित्री बाई फुले। (फोटो- ट्विटर एकाउंट)

लखीमपुर खीरी में आठ लोगों की मौत और बवाल के बाद विपक्षी दलों में सरकार के खिलाफ जबर्दस्त आक्रोश है। ट्विटर पर इसको लेकर लगातार प्रतिक्रियाएं दी जा रही हैं। कोई इसे किसान विरोधी तो कई दलित विरोधी एजेंडा के तहत किया गया बता रहा है। विपक्ष के नेताओं को घटना स्थल पर जाने से रोकने को भी साजिश बताया जा रहा है।

योगी सरकार के खिलाफ मुखर होकर अपनी प्रतिक्रिया देने वाले पूर्व आईएएस सूर्य प्रताप सिंह ने पूर्व बीजेपी सांसद सावित्रीबाई फुले के साथ कथित रूप से बदसलूकी किए जाने और उन्हें लखीमपुर खीरी जाने से रोकने के लिए पुलिस के धक्के मारने का वीडियो ट्वीट करके कहा कि “#दलित नेत्री हैं, BJP छोड़ चुकी हैं। बस इतना पर्याप्त हैं, पुलिस से धक्के मरवाने, बेईज्जत करने के लिए। देखिए, कैसे जानवर की तरह पटक दिया गाड़ी की शीट पर!”

सावित्रीबाई फुले का यह वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। वीडियो में देखा जा सकता है कि महिला पुलिसकर्मी फुले को घसीटते हुए गाड़ी में बैठाने की कोशिश कर रही हैं और जब सावित्रीबाई फुले इसका विरोध करती हैं, तो महिला पुलिस उनका बाल पकड़कर जबरन गाड़ी में बैठाने लगती हैं।

इसी वीडियो पर कांग्रेस महासचिव ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से सावित्रीबाई फुले का समर्थन करते हुए लिखा, सावित्री तुम्हारे साथ इस तरह का व्यवहार देख कर दुख हुआ। लड़ती रहो, डटी रहो। इस वीडियो को शेयर करते हुए कई ट्विटर यूजर ने अपनी प्रतिक्रिया दी है।

लखीमपुर में हुई हिंसा के बाद यूपी पुलिस कानून-व्यवस्था के नाम पर किसी भी विपक्षी नेता को पीड़ित परिवार से मिलने के लिए नहीं जाने दे रही है। इससे पहले प्रियंका गांधी, सपा नेता अखिलेश यादव, आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह समेत तमाम नेताओं को पुलिस ने लखनऊ और सीतापुर से आगे नहीं बढ़ने दिया।

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को भी लखनऊ एयरपोर्ट पर ही रोक लिया गया और आगे जाने की इजाजत नहीं दी गई। इसके बाद वे वहीं धरने पर बैठ गए। इस बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी भी बुधवार को लखनऊ होते हुए लखीमपुर जाने की घोषणा की है। उनका कहना है कि वे वहां जाकर पीड़ित परिवार से जरूर मिलेंगे।

पढें राज्य समाचार (Rajya News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट