ताज़ा खबर
 

MP : दिग्विजय सिंह का RSS और BJP पर हमला, कहा – चित्रकूट के ‘आरएसएस विश्वविद्यालय’ की हो जांच

वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने कहा कि चित्रकूट में जुड़वा भाइयों की हत्या सहित प्रदेश में हो रहे क्राइम में बीजेपी, आरएसएस और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं का हाथ है। उन्होंने चित्रकूट स्थित ‘आरएसएस विश्वविद्यालय’ की जांच कराने की भी मांग की।

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह। फोटो सोर्स : इंडियन एक्सप्रेस

मध्य प्रदेश में हो रहे क्राइम को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्‍ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने एक बार फिर बीजेपी पर निशाना साधा। इस बार उन्होंने आरएसएस पर भी हमला बोला है। शाजापुर जिले के सेमली आश्रम में उन्होंने सोमवार को कहा कि चित्रकूट में जुड़वा भाइयों की हत्या सहित प्रदेश में हो रहे क्राइम में बीजेपी, आरएसएस और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं का हाथ है। उन्होंने चित्रकूट स्थित ‘आरएसएस विश्वविद्यालय’ की जांच कराने की भी मांग की। वहीं, बीजेपी का कहना है कि प्रदेश में कांग्रेस सरकार बनने के बाद क्राइम काफी ज्यादा बढ़ गया है।

ये बोले पूर्व मुख्यमंत्री : दिग्विजय सिंह ने कहा, ‘‘मैं आपको कई उदाहरण दे सकता हूं। इंदौर में एक बहुत बड़े व्यापारी की हत्या हुई थी। उसकी सुपारी लेने का आरोप सुधाकर मराठा पर लगा, जो बीजेपी का सक्रिय सदस्य रहा है। उसने सुपारी लेकर कम से कम 25 हत्याएं कराईं। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह से उससे संबंध थे। मंदसौर में नगरपालिका अध्यक्ष की हत्या हुई। उसमें भी बीजेपी नेता का नाम सामने आया। रतलाम में आरएसएस के पदाधिकारी ने खुद को मृत दिखाने के लिए एक मजदूर की हत्या कर दी। इसके बाद बड़वानी जिले में बीजेपी नेता की हत्या उसकी पार्टी के साथी ने ही कर दी।’’

जुड़वा भाइयों की हत्या का भी किया जिक्र : वरिष्ठ कांग्रेस नेता बोले, ‘‘चित्रकूट में तेल कारोबारी के जुड़वा बच्चों के अपहरण और हत्या में भी बजरंग दल, विश्व हिंदू परिषद और बीजेपी नेताओं के नाम सामने आए हैं। ये सभी चित्रकूट विश्वविद्यालय में पढ़ते हैं, जो संघ का विश्वविद्यालय है। इस विश्वविद्यालय की तत्काल जांच होनी चाहिए।’’

बीजेपी ने किया पलटवार : मध्य प्रदेश बीजेपी के नेताओं ने आरोप लगाया कि कांग्रेस को प्रदेश संभाले महज 2 महीने हुए हैं। इसके बाद राज्य में क्राइम काफी तेजी से बढ़ रहा है। कांग्रेस सरकार इस पर नियंत्रण करने में असफल हो रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App