ताज़ा खबर
 

आंध्र प्रदेश विधानसभा के पूर्व स्पीकर ने किया सुसाइड, असेंबली का फर्नीचर घर ले जाने की वजह से आए थे चर्चा में

आंध्र प्रदेश विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष कोडेला शिवा प्रसाद राव ने सोमवार (16 सितंबर) को आत्महत्या कर ली। फिलहाल सुसाइड की वजह पता नहीं चली है। वहीं, पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

Author अमरावती | Updated: September 16, 2019 3:12 PM
आंध्र प्रदेश विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष कोडेला शिवा प्रसाद राव। फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस

आंध्र प्रदेश विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष कोडेला शिवा प्रसाद राव ने सोमवार (16 सितंबर) को आत्महत्या कर ली। उन्होंने हैदराबाद स्थित अपने घर में फांसी लगा ली। मामले की जानकारी मिलने के बाद उन्हें बसवतारकम अस्पताल में एडमिट कराया गया, जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। फिलहाल सुसाइड की वजह पता नहीं चली है। वहीं, पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। बता दें कि 72 वर्षीय राव तेलुगु देशम पार्टी के शीर्ष नेताओं में से एक थे।

6 बार विधायक बने थे कोडेला: गौरतलब है कि कोडेला 6 बार विधायक रह चुके थे, लेकिन 2019 में उन्हें गुंटूर की सत्तेनपल्ली सीट पर हार का सामना करना पड़ा था। अपने कार्यकाल के दौरान कोडेला कई विवादों में भी फंसे रहे। इनमें आंध्र प्रदेश विधानसभा का करीब एक करोड़ रुपए का फर्नीचर गुंटूर स्थित घर व ऑफिस ले जाने का भी मामला शामिल है। बताया जाता है कि कोडेला ने यह हरकत उस वक्त की थी, जब प्रदेश की राजधानी हैदराबाद से अमरावती शिफ्ट की जा रही थी।

National Hindi News, 16 September 2019 Top Updates LIVE: दिन भर की बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

बेटे पर लगा था यह आरोप: बता दें कि कोडेला के बेटे पर भी स्किल डिवेलपमेंट सेंटर्स से लैपटॉप चोरी करने का आरोप लगा था। हालांकि, बाद में उन्होंने सभी लैपटॉप लौटा दिए थे।

पूर्व सीएम नायडू ने जताया दुख: कोडेला के सुसाइड पर आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने भी दुख जताया। उन्होंने कहा, ‘‘मैं कोडेला शिपप्रसाद की मौत पर यकीन नहीं कर पा रहा हूं। कोडेला मेडिकल प्रोफेशन में थे और काफी मशहूर नेता बने। उनके परिवार के सदस्यों के प्रति मैं सहानुभूति रखता हूं। साथ ही, ईश्वर से प्रार्थना करता हूं कि उन्हें शांति दे।’’

YSRCP सरकार ने दर्ज कराए थे केस: बता दें कि कोडेला के खिलाफ आंध्र प्रदेश की YSRCP सरकार ने आईपीसी की धारा 409 और 411 के तहत केस दर्ज कराया था। वहीं, कोडेला के बेटे शिवराम के खिलाफ अपने शोरूम से करीब 400 गाड़ियां बेचने के बाद भी सेल्स टैक्स विभाग को टैक्स नहीं देने का आरोप था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 चिन्मयानंद केसः SIT पर लड़की के Video लीक करने का आरोप, स्वामी ओम बोले- केस झूठा हुआ तो बगावत कर देंगे हिंदू
2 येदियुरप्पा के मंत्री बोले- देशभक्त मुसलमान बीजेपी को देंगे वोट, पाकिस्तान समर्थक मुस्लिमों को लगता है डर
3 सुप्रीम कोर्ट ने कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद को दी जम्मू-कश्मीर कश्मीर जाने की इजाजत