scorecardresearch

विदेश में लड़कियां कभी भी बदल लेती हैं अपना बॉयफ्रेंड, बिहार के सीएम भी ऐसे ही हैं- कैलाश विजयवर्गीय के बिगड़े बोल

Kailash Vijayvargiya on Nitish Kumar: हाल ही में नीतीश कुमार एनडीए का साथ छोड़कर महागठबंधन में शामिल हो गए और राष्ट्रीय जनता दल के साथ मिलकर सरकार बना ली और मुख्यमंत्री पद की शपथ ली।

विदेश में लड़कियां कभी भी बदल लेती हैं अपना बॉयफ्रेंड, बिहार के सीएम भी ऐसे ही हैं- कैलाश विजयवर्गीय के बिगड़े बोल
कैलाश विजयवर्गीय (Photo Sorce- The Indian express)

Kailash Vijayvargiya on Nitish Kumar: भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर कटाक्ष किया है। कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि जब मैं विदेश यात्रा कर रहा था तो वहां किसी ने कहा कि वहां की महिलाएं कभी भी अपना बॉयफ्रेंड बदल लेती हैं। बिहार के सीएम भी ऐसे ही हैं, कभी नहीं पता कि वह किसका हाथ पकड़ सकते हैं या छोड़ सकते हैं।

नीतीश कुमार के आरजेडी के साथ जाने पर गुरुवार (18 अगस्त 2022) को इंदौर में मीडियाकर्मियों से बात करते हुए विजयवर्गीय ने कहा, “जिस दिन बिहार की सरकार बदली, उस दिन मैं विदेश में था। तो किसी ने बोला कि ये तो हमारे यहां होता कि लड़कियां कभी भी बॉयफ्रेंड बदल लेती हैं। बिहार के मुख्यमंत्री भी ऐसे ही हैं। पता नहीं कब किससे हाथ मिला लें, कब किसका हाथ छोड़ दें।”

सत्ता में वापसी के सपने देख सकते कमलनाथ: कैलाश विजयवर्गीय 25 दिनों बाद अमेरिका से इंदौर लौटे। लौटते ही वे एयरपोर्ट से सीधे पितृ पर्वत पहुंचे। दर्शन करने के बाद उन्होंने मीडिया से चर्चा में बिहार सरकार को घेरा। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के कांग्रेस के वापस सत्ता में आने के दावे को लेकर कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि कमलनाथ जी की उम्र 75 से ऊपर हो गई है उनकी बात को गंभीरता से नहीं लेना चाहिए। वह सत्ता में वापसी के सपने देख सकते हैं, तो निश्चित तौर पर ऐसे सपने उन्हें देखना चाहिए, जिससे कि उनका समय कट सकें।

अभी भी पश्चिम बंगाल का प्रभारी हूं: कैलाश विजयवर्गीय ने आगे कहा कि अभी मैं पश्चिम बंगाल का प्रभारी हूं और किसी ने गलत खबर उड़ा दी है। इसी के साथ उन्होंने बीजेपी संसदीय बोर्ड में परिवर्तन को लेकर कहा कि यह पार्टी की सामान्य प्रक्रिया है, जो लोग लंबे समय से उस बोर्ड में थे, उन्हें हटाया गया है। इसे राजनीति के चश्मे से नहीं देखना चाहिए।

नीतीश कई बार बदल चुके सहयोगी दल: नीतीश कुमार इससे पहले भी अपना सहयोगी दल बदल चुके हैं। उन्होंने आरजेडी के साथ मिलकर चुनाव लड़ा और सरकार बनाई। फिर आरजेडी को छोड़कर बीजेपी के साथ मिलकर सरकार बना ली थी। खास बात यह कि सहयोगी दल भले ही बदल जाए, नीतीश कुमार मुख्यमंत्री का पद अपने पास ही रखते हैं।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट