ताज़ा खबर
 

झारखंड: मुठभेड़ में तीन पुलिसकर्मियों की मौत मामले में दो माओवादियों को उम्रकैद

इस मुठभेड़ में तीन पुलिसकर्मियों शमसाद अंसारी, नासिर अंसारी और राम दयाल पासवान की मौत हुई थी।

Author दुमका | Published on: July 29, 2016 6:49 PM
चित्र का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।

एक स्थानीय अदालत ने आठ साल पहले मुठभेड़ में तीन पुलिसकर्मियों की मौत मामले में दो माओवादियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई।जिला एवं अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश एसएन मिश्रा ने जिले के शिकारीपाड़ा थाना क्षेत्र के अंतर्गत दुमका पाकुड़ मार्ग पर अप्रैल 2008 में हुई मुठभेड़ में संलिप्तता के लिए मनोज कुमार तेहरी (53) और मंगला देहरी (50) को सजा सुनाई। इस मुठभेड़ में तीन पुलिसकर्मियों शमसाद अंसारी, नासिर अंसारी और राम दयाल पासवान की मौत हुई थी।

दोनों को भादंसं की विभिन्न धाराओं के तहत दोषी ठहराया गया था। तेहरी को मौके से गिरफ्तार किया गया था जबकि देहरी और एक अन्य छोटा चंदन देहरी (62) को बाद में गिरफ्तार किया गया था। छोटा चंदन को सबूतों के अभाव में बरी किया गया। अतिरिक्त लोक अभियोजक अजय कुमार शाह ने कहा कि राज्य में किसी सत्र अदालत में किसी नक्सली की यह पहली दोषसिद्धि है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 मुजफ्फरनगर: नाबालिग लड़की से गैंगरेप केस में महिला समेत चार दोषी, 64 दिन रखा था कैद
2 ‘संजीवनी बूटी’ की तलाश में 25 करोड़ खर्च करेगी उत्तराखंड सरकार
जस्‍ट नाउ
X