ताज़ा खबर
 

Floods Death Toll: 4 राज्यों में अब तक 192 लोगों की मौत, उत्तराखंड-कश्मीर में लैंड स्लाइडिंग से गई 9 की जान

आधिकारिक आंकड़े के अनुसार मानसूनी बारिश के प्रकोप के चलते केरल में सोमवार को मृतक संख्या बढ़कर 76 हो गई जबकि कर्नाटक, गुजरात और महाराष्ट्र में अब तक 116 लोगों की मौत हुई है।

Author बेंगलुरु | August 13, 2019 10:17 AM
प्रतीकात्मक तस्वीर फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

उत्तराखंड और जम्मू में भारी बारिश के कारण भूस्खलन की घटनाओं में नौ लोगों की मौत हो गई जबकि बाढ़ से पीड़ित केरल, कर्नाटक, महाराष्ट्र और गुजरात में सोमवार (12 अगस्त) को भी राहत और बचाव अभियान जारी रहा। बाढ़ प्रभावित इन राज्यों में मृतक संख्या बढ़कर 192 हो गयी है। अधिकारियों ने बताया कि बाढ़ प्रभावित राज्यों के कई इलाकों में बारिश थम गई है, जहां 12 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं और जलमग्न इलाकों से जलस्तर घटना शुरू हो गया है। आधिकारिक आंकड़े के अनुसार मानसूनी बारिश के प्रकोप के चलते केरल में सोमवार को मृतक संख्या बढ़कर 76 हो गई जबकि कर्नाटक, गुजरात और महाराष्ट्र में अब तक 116 लोगों की मौत हुई है।

बाढ़ में सड़क बहने के कारण फंसे लोगः गुजरात के कच्छ जिले में बाढ़ में सड़क बह जाने के कारण वहां फंसे करीब 125 लोगों को वायुसेना ने निकाला जबकि कर्नाटक और महाराष्ट्र में भारी बारिश एवं भूस्खलन से क्षतिग्रस्त हुईं सड़कों की मरम्मत का कार्य शुरू हो गया है। भारी बारिश और भूस्खलन से जूझ रहे पर्वतीय राज्य उत्तराखंड के चमोली जिले में तीन अलग-अलग गांवों में एक महिला और नौ महीने की उसकी बेटी समेत छह लोग भूस्खलन की चपेट में आकर जिंदा दफन हो गए। चुफलागड नदी में आई बाढ़ के तेज बहाव में इसके तट पर बनी दो इमारतें बह गईं।

National Hindi News, 13 August 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की तमाम अहम खबरों के लिए क्लिक करें

भूस्खलन का मलबा गिर जाने से फंसे लोगः देहरादून में राज्य आपदा अभियान केंद्र ने बताया कि जिले के घाट इलाके में बंजबगड, अलीगांव और लांखी गांव में तीन घरों पर भूस्खलन का मलबा गिर जाने से वहां रहने वाले लोग फंस गए। केंद्र ने बताया कि छह लोगों की दम घुटने से मौत हो गई। जम्मू कश्मीर के रियासी जिले में भूस्खलन के दौरान एक बड़े पत्थर के नीचे गिरने से एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत हो गई। घटना जिले के महोर क्षेत्र के लार गांव में रविवार शाम को घटी, जिसमें दो लोग घायल हुए हैं।इस बीच बाढ़ प्रभावित कई राज्यों में सोमवार को कई सड़कें यातायात की आंशिक आवाजाही के लिये खोल दी गयीं, जिसमें सिर्फ जरूरी सामान से लदे ट्रकों को पहले आवागमन की मंजूरी दी गई।

आंशिक रूप से खुला मुंबई-बेंगलुरु हाइवेः बाढ़ का पानी घटने के बाद महाराष्ट्र में कोल्हापुर के पास पिछले छह दिन से बंद मुंबई-बेंगलुरू राष्ट्रीय राजमार्ग-4 को सोमवार को यातायात के लिए आंशिक रूप से खोल दिया गया और जरूरी सामान से लदे वहां फंसे हजारों ट्रकों को आगे जाने की इजाजत दी गई। कोल्हापुर और कर्नाटक के बेलगाम के बीच भी यातायात की मंजूरी दी गई। बाढ़ प्रभावित राज्यों में एहतियात बरती जा रही है क्योंकि अधिकतर नदियां उफान पर हैं और जलाशयों से पानी छोड़ा जा रहा है।

Bihar News Today, 13 August 2019: बिहार से जुड़ी खास खबरों के लिए क्लिक करें

राहुल ने किया वायनाड का दौराःकांग्रेस नेता राहुल गांधी ने सोमवार को केरल में अपने वायनाड संसदीय क्षेत्र में बुरी तरह प्रभावित पुथुमाला समेत बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा किया और आपदा से प्रभावित लोगों के पुनर्वास में हरसंभव मदद का आश्वासन दिया। कर्नाटक में 17 जिलों के 80 तालुके बाढ़ और बारिश से प्रभावित हुए हैं और राज्य सरकार ने मृतक संख्या 42 बताई है। 12 लोग लापता हैं।

सहायता राशि की घोषणा की गईः कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने राज्य में आई बाढ़ और भूस्खलन में अपना घर गंवाने वाले लोगों को पुनर्निर्माण कार्य के लिए सोमवार को 5-5 लाख रुपए की सहायता राशि देने की घोषणा की। राज्य सरकार ने क्षतिग्रस्त हुए घरों की मरम्मत के लिए एक-एक लाख रुपये की सहायता राशि देने और घर तैयार होने तक लोगों को किराये के मकान में रहने के लिये 5,000 रुपए प्रति महीने की सहायता राशि देने की घोषणा की।

साढ़े 4 लाख लोगों का हुआ रेस्क्यूः महाराष्ट्र में सोमवार को मृतक संख्या बढ़कर 43 पहुंच गई। रविवार को करीब 4.48 लाख लोगों को बाढ़ प्रभावित इलाकों से बचाया गया था। इन्हें 372 अस्थाई शिविरों में भेजा गया। गुजरात में मछली पकड़ने वाली दो नौकाओं पर सवार मछुआरों का पता लगाने के प्रयास जारी हैं। राज्य में पिछले पांच दिन में बारिश की घटनाओं में करीब 31 लोग मारे गए। राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ), वायुसेना, राज्य आपदा मोचन बल (एसडीआरएफ) और स्थानीय प्रशासन बाढ़ प्रभावित राज्यों में राहत एवं बचाव कार्य में जुटे हैं। राष्ट्रीय राजधानी में सोमवार का दिन उमस भरा रहा, जहां न्यूनतम तापमान 28 डिग्री सेल्सियस बना रहा। सुबह साढ़े आठ बजे तक हवा में नमी का स्तर 84 प्रतिशत दर्ज किया गया। सुबह साढ़े आठ बजे तक सफदरजंग वेधशाला ने 0.2 मिमी बारिश जबकि लोधी रोड में यह 0.8 मिमी दर्ज की गयी।

Jammu and Kashmir Issue Live Updates: कश्मीर के हालात से जुड़ी ताजा खबरों के लिए क्लिक करें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 दिल्ली में लेना है मॉनसून का मजा, तो सैर-सपाटा के लिए बेहतरीन हैं ये 5 Tourist Spots
2 महिला BJP विधायक को शख्स ने सरेआम मारा तमाचा, लोगों से मुलाकात के दौरान हुई घटना
3 Jammu and Kashmir Issue Updates: कश्मीर मामले पर सरकार से SC का सवाल- कब तक यूं ही चलेगा? दो हफ्तों के लिए टली सुनवाई