ताज़ा खबर
 

फ्लिपकार्ट पर 55,00 रुपये भुगतान कर मंगवाया था आईफोन-8, डब्बा खोला तो मिला डिटर्जेंट बार

इस घटना के बाद वह मध्य मुंबई के बायकुला पुलिस स्टेशन में गया और फ्लिपकार्ट के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज करवाया। शिकायतकर्ता तबरेज मेहबूब नगराली ने कहा कि उसने इसके शॉपिंग पोर्टल पर आईफोन-8 का ऑर्डर किया था और इसके लिये उसने पूरे 55,000 रुपये का भुगतान किया था।

Author February 1, 2018 10:44 PM
ऑनलाइन मार्केटप्लेस फ्लिपकार्ट।

शहर में 26 वर्षीय एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर ने एक प्रमुख ऑनलाइन विक्रेता कंपनी फ्लिपकार्ट पर आई-फोन-8 की जगह एक डिटर्जेंट बार डिलिवर करने का आरोप लगाया है जबकि उसने आईफोन का ऑर्डर किया था और उसने इसका भुगतान भी किया था। इस घटना के बाद वह मध्य मुंबई के बायकुला पुलिस स्टेशन में गया और फ्लिपकार्ट के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज करवाया। शिकायतकर्ता तबरेज मेहबूब नगराली ने कहा कि उसने इसके शॉपिंग पोर्टल पर आईफोन-8 का ऑर्डर किया था और इसके लिये उसने पूरे 55,000 रुपये का भुगतान किया था।

सॉफ्टवेयर इंजीनियर ने आरोप लगाया कि 22 जनवरी को नवी मुंबई के पास पनवेल में उसके घर पर एक पैकेट डिलिवर किया गया जिसमें से मोबाइल फोन की जगह एक डिटर्जेंट बार निकला। बायकुला पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक अविनाश शिंगटे ने पीटीआई-भाषा को बताया, ‘‘नगराली ने कल शिकायत दर्ज करायी और फ्लिपकार्ट के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया गया।’’ फ्लिपकार्ट के एक प्रवक्ता ने पीटीआई-भाषा को बताया कि कंपनी इस घटना की जांच कर रही है।

बता दें कि यह ऐसा मामला नहीं है बल्कि इससे पहले भी फिल्पकार्ट पर ऑनलाइन शॉपिंग करने वाले शख्स को फोन के बदले साबुन मिल चुके हैं। यह मामला पिछले साल मुंबई में सामने आया था। मुंबई में ऑनलाइन शॉपिंग पोर्टल फ्लिपकार्ट से ग्राहक ने 2 फोन मंगाए थे लेकिन फ्लिपकार्ट ने फोन के बदले में नहाने का साबुन और कपड़े धोने का पाउडर भेज दिया। ग्राहक वैभव वसंत कांबले बताया था कि उसने फ्लिपकार्ट से दो सैमसंग के फोन ऑर्डर किए थे, जिनकी कीमत 14 हजार नौ सौ रुपए थी। उसने यह ऑर्डर 3 मई को अपने बांद्रा कुर्ला कॉम्पलेक्स स्थित ऑफिस से किया था। सामान की डिलीवरी की तारीख 6 और 8 मई बताई गई थी। डिलीवरी वाली कंपनी ई-कार्ट का डिलीवरी बॉय 6 मई को दोनों फोन लेकर ही उसके ऑफिस पहुंचा तो कांबले ने डिलीवरी बॉय को पैसे देकर उससे सामान ले लिया। कांबले ने उस वक्त डिलीवरी बॉक्स नहीं खोला। उसने सोचा कि जब काम से थोड़ा फ्री हो जाउंगा तब इस बॉक्स को खोलूंगा। काम से फुर्सत मिलने के बाद कांबले ने जब बॉक्स को खोला तो वह दंग रह गया। उसे बॉक्स में फोन तो नहीं मिले लेकिन नहाने का साबुन और कपड़े धोने का पाउडर जरूर मिला। इसके बाद कांबले ने तुरंत ही फ्लिपकार्ट को फोन और ई-मेल के द्वारा इसकी जानकारी दी।

कांबले के बार-बार फोन करने के बावजूद कंपनी उसके फोन का जवाब नहीं दिया तो आखिर में परेशान होकर उसने इसकी शिकायत पुलिस थाने में दर्ज कराई और आपबीती पुलिस को बताई। इसके बाद फ्लिपकार्ट और ई-कार्ट दोनों के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर मामले की जांच की गई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App