ताज़ा खबर
 

VIDEO: ढाई साल के बेटे और 5 साल की बेटी ने एक साथ सैल्यूट कर शहीद पिता को दी अंतिम विदाई

दोनों बच्चों ने अपने शहीद पिता को आखिरी बार सैल्यूट किया। शहीद के माता-पिता समेत पूरे परिवार ने उन्हें श्रद्धांजलि दी।
शहीद हवलदार मदन लाल शर्मा को 3 साल की बेटी ने सैल्यूट कर दी अंतिम विदाई (फोटो-ANI)

कुपवाड़ा जिले के नौगांव क्षेत्र में घुसपैठ कर रहे आतंकियों से हुई मुठभेड़ में शहीद हुए हवलदार मदन लाल शर्मा को उनके पैतृक गांव घरोटा में गुरूवार को अंतिम विदाई दी गई। इस मौके पर उनके ढाई साल के अबोध बेटे और पांच साल की बेटी ने उन्हें सैल्यूट कर आखिरी विदाई दी।  दोनों बच्चों ने अपने शहीद पिता को आखिरी बार सैल्यूट किया। शहीद के माता-पिता समेत पूरे परिवार ने उन्हें श्रद्धांजलि दी। इससे पहले जैसे ही शहीद का शव पैतृक गांव घरोटा पहुंचा पूरा वातावरण भारत माता की जय के नारों से गूंज उठा। शहीद के अंतिम दर्शन के लिए उमड़े लोगों ने नम आंखों से शहीद को अंतिम श्रद्धांजलि दी। पार्थिव शरीर को कुछ देर उनके घर पर रखा गया और इसके बाद उसे अंत्येष्टि के लिए ले जाया गया। शहीद की पूरे सैन्य सम्मान से अंत्येष्टि की गई। इस मौके पर सेना के बड़े अधिकारी भी मौजूद थे।

अंत्येष्टि के समय शहीद मदन लाल शर्मा की पत्नी भावना शर्मा, मां धर्मो देवी, पांच वर्षीय बेटी श्वेता का रो-रोकर बुरा हाल था जबकि ढाई साल का बेटा कनव पिता की शहादत और वहां हो रहे अंतिम संस्कार से अनजान था। मदन लाल की शहादत से गांव समेत पूरे इलाके में शोक व्याप्त है। पड़ोस के गांव के लोगों में भी शहीद बेटे को आखिरी विदाई देने की ललक दिखी। जैसे ही सेना की गाड़ी पंजाब के गांव घरोटा पहुंची, लोग उसके पीछे-पीछे हो लिए। सभी लोग अपने गांव के बेटे मदनलाल को आखिरी बार देख लेना चाहते थे। उनकी शहादत को सलाम कर लेना चाहते थे। मदन लाल की शहादत की खबर पहले ही गांव पहुंच चुकी थी।  मदन लाल 1999 में सेना में भर्ती हुए थे। मदनलाल सेना की 20 डोगरा यूनिट में तैनात थे।

Read Also-द क्विंट का दावा- स्पेशल फोर्स के जवानों ने LoC पार कर मार गिराए 20 आतंकी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.