ताज़ा खबर
 

मोदी के पोस्टर पर कालिख पोतने के मामले में धारा 447 में FIR दर्ज

पिछले 5 जून को सेक्टर-35 में भारत पेट्रोलियम कंपनी के पेट्रोल पम्प पर लगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पोस्टर पर कालिख पोती गई थी।

Author नोएडा | June 8, 2016 1:06 AM
पीएम नरेंद्र मोदी

सेक्टर-35 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पोस्टर पर कालिख पोतने के मामले पर नोएडा में राजनीति गरमा गई है। भाजपा के नोएडा महानगर अध्यक्ष राकेश शर्मा के नेतृत्व में एक प्रतिनिधि मंडल ने मंगलवार को थाना सेक्टर- 24 में आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कराया। पार्टी पदाधिकारियों के अनुसार प्रधानमंत्री पूरे देश के लिए सम्मानीय हैं। ऐसे राष्ट्रीय व्यक्तिव के पोस्टर पर यह घृणित कार्य न केवल मर्यादा के खिलाफ है, बल्कि दंडनीय भी है। ऐसे अपराधिक काम को करने वालों को दंडित करना जरूरी है। थाना सेक्टर-24 के एसओ नीरज सिंह ने बताया कि मामले को लेकर पहले ही अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआइआर दर्ज कर ली गई है। भाजपा पदाधिकारियों की आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कराने की मांग को उसी एफआइआर में जोड़ दिया गया है।

पिछले 5 जून को सेक्टर-35 में भारत पेट्रोलियम कंपनी के पेट्रोल पम्प पर लगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पोस्टर पर कालिख पोती गई थी। सीसीटीवी कैमरे की फुटेज में कालिख पोतने का घटनाक्रम रेकॉर्ड हुआ है। सूत्रों के अनुसार कांग्रेस के प्रदर्शन के दौरान कुछ कार्यकर्ताओं ने यह काम किया है। फुटेज में कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता और झंडे साफ दिखाई दे रहे हैं। पेट्रोल पम्प मालिक वीके पांडे ने इस मामले पर 5 जून को ही थाने में शिकायत दी थी। जिसके आधार पर पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ धारा 447 और 2/3 के तहत मामला दर्ज किया था।

इस मामले पर नोएडा की भाजपा विधायक विमला बाथम ने कहा कि इस तरह की हरकतें कांग्रेसियों की हताशा दिखाती है। राजनीतिक स्तर पर नाकाम हो चुकी पार्टी के कार्यकर्ता सुर्खियों में आने के लिए ऐसी हरकतें कर रहे हैं। वहीं महानगर कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष और प्रवक्ता पवन शर्मा ने कहा कि पार्टी प्रधानमंत्री के झूठे वादों का विरोध कर रही थी। जनता के रुपयों को विज्ञापन में बर्बाद करने के विरोध में कालिख पोती गई थी। ऐसे विरोध में एफआइआर दर्ज कराने का कोई औचित्य नहीं है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App