ताज़ा खबर
 

बिहार: दो टॉपर्स और दो केंद्र अधीक्षकों समेत सात के खिलाफ हुई FIR

प्राथमिकी में वैशाली जिले के विशुन राय कालेज के प्रबंधक, हाजीपुर के जीए इंटर कालेज के केंद्र अधीक्षक, पटना के राजेंद्रनगर स्थित बालक हाई स्कूल के केंद्र अधीक्षक शामिल हैं।

Author पटना | June 8, 2016 03:06 am
रूबी राय ने पॉलिटिकल साइंस को प्रोडिकल साइंस कहा था।

बिहार में इस साल आयोजित इंटरमीडिएट परीक्षा में धांधली मामले में दो टॉपर्स और दो केंद्र अधीक्षक सहित कुल सात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। पुलिस उपाधीक्षक (विधि व्यवस्था) शिबली नोमानी ने बताया कि माध्यमिक शिक्षा के निदेशक ने पटना के कोतवाली थाने में सात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है।

प्राथमिकी में वैशाली जिले के विशुन राय कालेज के प्रबंधक, हाजीपुर के जीए इंटर कालेज के केंद्र अधीक्षक, पटना के राजेंद्रनगर स्थित बालक हाई स्कूल के केंद्र अधीक्षक शामिल हैं। इसके अलावा इंटरमीडिएट कला संकाय की टॉपर्स रूबी राय, विज्ञान संकाय के टापर सौरभ श्रेष्ठ और राहुल कुमार के नाम भी प्राथमिकी में शामिल हैं। इन लोगों के खिलाफ कई धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। बिहार के शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी ने भी प्राथमिकी दर्ज होने की पुष्टि करते हुए कहा कि इसमें आगे की कार्रवाई होगी जिसके बारे में पुलिस महानिदेशक बताएंगे।

इस बीच, बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (बीएसईबी) के मुख्यालय मंगलवार को पहुंची अपराध अनुसंधान विभाग की टीम ने परीक्षा परिणाम का निरीक्षण करने के बाद वहां मौजूद कम्प्यूटर अपने साथ ले गई। पुलिस सूत्रों ने बताया कि जांच टीम ने बीएसईबी अध्यक्ष लालकेश्वर प्रसाद सिंह से भी पूछताछ की।

वहीं भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर बीएसईबी अध्यक्ष लालकेश्वर प्रसाद सिंह और विशुन राय कालेज संचालक को राजनीतिक संरक्षण का आरोप लगाया। मोदी ने कहा कि विशुन राय कालेज के बच्चा राय के बारे में सभी जानते हैं कि उन्होंने हाल में संपन्न बिहार विधानसभा चुनाव में लालू प्रसाद से अधिक उनके दोनों बेटों तेजस्वी यादव और तेजप्रताप की जीत सुनिश्चित करने के लिए काम किया था।

उन्होंने आरोप लगाया कि बीएसईबी अध्यक्ष लालकेश्वर प्रसाद सिंह जद (एकी) की पूर्व विधायक के पति हैं और उन्हें सत्ताधारी पार्टी जद (एकी) का संरक्षण प्राप्त है। उन्होंने बताया कि ऐसा संभव है कि बीएसईबी ने हसन वारिस के नेतृत्व वाली कमेटी की बिशुन राय कालेज में पिछले साल धांधली को लेकर रिपोर्ट वाला लिफाफा नहीं खोला होगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App