ताज़ा खबर
 

बीजेपी के 750 नेताओं को दिखाई गई नरेंद्र मोदी पर बनी फिल्‍म, दी गई शिक्षा- विजेता वही जो दूसरों के लिए जीता है

'चलो जीते हैं' फिल्म पीएम नरेंद्र मोदी के प्रारंभिक जीवन पर आधारित है। इस फिल्म में यह दिखाया गया है कि 'विजेता एक होता है' और वह दूसरों के लिए जीता है।

फिल्म ‘चलो जीते हैं’ का एक दृश्य (Photo source- Video tube/Youtube)

हाल ही में उत्तर प्रदेश राज्य कार्यकारिणी की बैठक में केंद्रीय और राज्य स्तर के भाजपा नेताओं मेरठ में लोकसभा चुनाव पर विचार-विमर्श किया। बैठक के दौरान 32 मिनट की फिल्म “चलो जीते हैं” दिखाई गई। करीब 750 नेताओं ने यह फिल्म देखी। बताया जाता है कि यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रारंभिक जीवन पर आधारित है। हालांकि, अधिकारिक तौर पर यह पीएम मोदी की जीवनी है, इस बात की पुष्टि नहीं की गई है।

एक लड़के की जिंदगी के माध्यम से इस फिल्म में यह दिखाया गया है कि ‘विजेता एक होता है’ और वह दूसरों के लिए जीता है। भाजपा के सूत्रों ने बताया कि, फिल्म की स्क्रीनिंग से पहले एक पार्टी नेता ने उन सभी को संबोधित किया और कहा कि ‘दूसरों के लिए जीने’ का संदेश को अपने जीवन में आत्मसात करना चाहिए। यह उत्तरप्रदेश के पार्टी कार्यकर्ताओं के लिए भी एक संदेश था जो यह शिकायत कर रहे हैं कि राज्य में भाजपा की सरकार होते हुए भी नौकरशाह और दूसरे सीनियर पार्टी लीडर उनकी समस्या को नहीं सुन रहे हैं।

 

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, मंगेश हदावले ने 32 मिनट की एक शॉर्ट फिल्म ‘चलो जीते हैं’ बनाई है। इसकी शूटिंग वडोदरा में हुई है। फिल्म में नरेंद्र मोदी के बचपन की कहानियां दिखाई गई है। 29 जुलाई को यह फिल्म इंटरनेट व कई अन्य माध्यमों पर रिलीज की गई। फिल्म के माध्यम से यह दिखाया गया है कि, “किस तरह उन्हें चाय बेचने से लेकर आगे बढ़ने की प्रेरणा मिली। फिल्म में एक गरीब बच्चे ‘नारू’ की कहानी है जिसके अंदर छोटी उम्र से ही कुछ कर गुजरने की तमन्ना होती है। गरीब परिवार में जन्म लेने वाला बच्चा कभी कपड़े प्रेस करता दिखता है तो कभी चाय की दुकान में काम करते हुए। लेकिन इसके साथ ही वह अपनी पढ़ाई भी जारी रखता है। बालक को समाजिक यातनाएं भी झेलनी पड़ती है और गरीबी की मार भी। इसके बावजूद वह मजबूत होता जाता है।” बता दें कि फिल्म की शूटिंग उसी रेलवे स्टेशन पर की गई है, जहां पीएम मोदी बचपन में चाय बेचते थे। इस फिल्म को नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र में भी दिखाने की शुरूआत हो चुकी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App