scorecardresearch

बिहार में बीजेपी की महिला MLA की रिश्तेदारों से धक्का-मुक्की, आम-लीची तोड़ने पर हुआ विवाद

विधायक रश्मि का कहना है कि संपत्ति को लेकर उनके रिश्तेदारों के साथ कोर्ट केस भी चल रहा है। विधायक ने यह भी बताया कि आम के बगीचे से एक आम भी उनको नहीं दिया जाता है।

rashmi verma | bjp mla | bihar
बीजेपी MLA रश्मि वर्मा और उनके रिश्तेदार के बीच मारपीट। ( फोटो सोर्स: @ANI)।

बिहार के बेतिया के नरकटियागंज में बीजेपी विधायक रश्मि वर्मा और उनके रिश्तेदार के बीच धक्का-मुक्की और मारपीट का एक वीडियो वायरल हो रहा है। वायरल वीडियो में दिख रहा है कि विधायक रश्मि वर्मा अपने रिश्तेदारों के साथ धक्का-मुक्की और गाली-गलौज कर रही हैं।

वायरल वीडियो में विधायक रश्मि वर्मा दिखाई दे रही हैं। यह घटना एक सप्ताह पहले की बताई जा रही है, जो नरकटियागंज के धनौजी फार्म का है। हालांकि विधायक अभी केरल में हैं। विधायक रश्मि वर्मा ने आरोप लगाया है कि बीते 40 सालों से उनकी संपत्ति पर उनके पति के भाई की पत्नी और अन्य रिश्तेदारों ने कब्जा कर रखा है। बार-बार जाने के बाद भी उनके हिस्से की संपत्ति उन्हें नहीं दी जा रही है।

विधायक रश्मि का कहना है कि संपत्ति को लेकर उनके रिश्तेदारों के साथ कोर्ट केस भी चल रहा है। विधायक ने यह भी बताया कि आम के बगीचे से एक आम भी उनको नहीं दिया जाता है। जिसकी वजह से वह खुद बगीचे में गईं, जहां उनके रिश्तेदार अपनी बेटी के साथ भी पहुंचीं।इसी दौरान दोनों पक्षों के बीच मारपीट और धक्का मुक्की हुई है। घटना के मारपीट और धक्का-मुक्की का यह वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। रश्मि वर्मा पश्चिम चंपारण के नरकटियागंज से बीजेपी की विधायक हैं।

विधानसभा की सदस्यता से दिया था इस्तीफा
विवाद के कारण ही भाजपा विधायक रश्मि वर्मा ने बीते जनवरी महीने में विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद लोग तरह-तरह की चर्चाएं करने लगे थे। हालांकि, बाद में बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने खुलासा किया था कि उन पर परिवार के कुछ लोगों ने गलत टिप्पणी कर दी थी, इस कारण उन्होंने इस्तीफा दिया था। मेरी उनसे बात हो गई है। उनके परिवार में संपत्ति को लेकर विवाद है। यह पारिवारिक समस्या है। इसका राजनीतिक रूप से कोई लेनादेना नहीं है। इस प्रकरण को अब बंद समझा जाए। अब एक बार फिर उनके परिवारिक विवाद का ये वीडियो सामने आया है, जिसे लेकर लोग चर्चा कर रहे हैं।

बीजेपी ने दोबारा 2020 में दिया रश्मि को मौका-
रश्मि वर्मा बीजेपी की वह नेता हैं, जिनकी वजह से 2015 के विधानसभा चुनाव में नरकटियागंज सीट पर बीजेपी की हार हुई थी। 2015 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी से टिकट नहीं मिलने पर रश्मि वर्मा निर्दलीय चुनाव में उतर गईं थी। उन्हें 39,200 वोट मिले और बीजेपी प्रत्याशी रेणु देवी को 41,151 वोट मिले थे। वोटों के इस बंटवारे में कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ रहे रश्मि वर्मा के जेठ विनय वर्मा को फायदा हुआ और वह 57,212 वोट लाकर चुनाव जीत गए थे। 2020 बिहार विधानसभा चुनाव से ठीक पहले रश्मि वर्मा बीजेपी में शामिल हो गईं। उनको विधानसभा का टिकट दिया गया। जिसमें रश्मि को जीत हासिल हुई।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.