ताज़ा खबर
 

पिता ने दामाद का कत्ल कर लिया बेटी की आत्महत्या का बदला, अफेयर से दुखी होकर बांध से कूदकर दी थी जान

हैदराबाद में तेलंगाना राष्ट्र समिति के एक नेता को अपने दामाद की हत्या के मामले में गिर्फतार किया गया है।

इस तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्‍मक तौर पर किया गया है। (Source: Agency)

हैदराबाद में तेलंगाना राष्ट्र समिति के एक नेता को हत्या के मामले में गिर्फतार किया गया है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक टीआरएस नेता श्याम सुंदडर रेड्डी ने कई बार छुरा घोंपकर जी राजेश की हत्या कर दी। दरअसल इस मामले के तार राजेश पर 2015 में दर्ज हुए एक केस से जुड़े हैं। मार्च 2015 में राजेश को श्याम सुंदर रेड्डी की बेटी स्वर्गीय अनुशा रेड्डी की किडनैपिंग और रेप के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। अनुशा ने राजेश पर आरोप लगाए थे कि राजेश ने उसका शारीरिक शोषण किया था। अनुशा की शिकायत के मुताबिक 2014 में राजेश और अनुशा ने शादी की थी लेकिन अनुशा को बाद में पता लगा कि राजेश ने उसे चीट किया है। अपने साथ हुआ यह धोखा अनुशा बर्दाश्त नहीं कर पाई और उसने नागार्जुन सागर बांध में कूदकर अपनी आत्महत्या कर ली।

वहीं गौर करने वाली बात यह भी है कि राजेश के खिलाफ लगभग 10 आपराधिक मामले हयाथानगर पुलिस स्टेशन में दर्ज हैं जिनमें से ज्यादातर लोगों के साथ धोखाधड़ी करने से जुड़े हैं। राजेश की हत्या के मामले में पुलिस ने श्याम सुंदर रेड्डी को गिरफ्तार किया है। वारदात तुर्कायमजाल इलाके में स्थित मित्रा बार में हुई थी। राजेश एलबी नगर स्थित हनुमान मंदिर की मैनेजिंग कमेटी के हेड था। वहीं मामले को लेकर एसीपी एस मल्ला रेड्डी ने कहा कि श्याम सुंदर रेड्डी अपनी बेटी की मौत बदला लेने का इंतजार कर रहा था। बीते सोमवार (27 फरवरी) को राजेश अपने दोस्त के साथ बार में था।

रिपोर्ट्स के मुताबिक जैसे ही राजेश जाने की तैयारी कर रहा था तभी श्याम सुंदर अपने साथियों के साथ मौके पर पहुंच गया और फिर राजेश की छुरा घोंपकर हत्या कर दी गई। एसीपी मल्ला रेड्डी ने आगे बताया कि राजेश की मौत मौक-ए-वारदात पर ही हो गई थी। वहीं इससे पहले की राजेश का दोस्त कुछ कर पाता हत्यारे भाग निकले। पुलिस ने श्याम और उसके साथियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है और अन्य आरोपियों को भी हिरासत में ले लिया गया है।

देखें वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App