ताज़ा खबर
 

Fatehveer Singh News Updates: 109 घंटे की कड़ी मशक्कत, फिर भी ‘फतेह’ नहीं

Fatehveer Singh in Borewell Latest News Updates in Hindi: फतेहवीर गुरुवार (6 जून) शाम करीब 4 बजे खेलते वक्त बोरवेल में गिर गया था। इस घटना की सूचना मिलते ही एनडीआरएफ की टीम ने बचाव कार्य शुरू कर दिया था।

Author संगरूर | Jun 11, 2019 17:19 pm
109 घंटे बाद बोरवेल से निकाला गया फतेहवीर, लेकिन नहीं बची जान। फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस

Fatehveer Singh in Borewell Latest News Updates in Hindi: पंजाब के संगरूर में 125 फीट गहरे बोरवेल में गिरे 2 साल के बच्चे फतेहवीर को करीब 109 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद मंगलवार (11 जून)  सुबह करीब 5 बजे निकाल लिया गया। उसके शरीर पर सूजन थी, जिसके चलते उसे बठिंडा अस्पताल में एडमिट कराया गया। इलाज के दौरान बच्चे की मौत हो गई। बता दें कि बच्चे को बचाने के अभियान में एनडीआरएफ, पुलिस के साथ-साथ डॉक्टरों की टीम भी मौजूद थी।

फतेहवीर गुरुवार (6 जून)  शाम करीब 4 बजे खेलते वक्त बोरवेल में गिर गया था। इस घटना की सूचना मिलते ही एनडीआरएफ की टीम ने बचाव कार्य शुरू कर दिया था। बच्चे को बचाने के लिए बोरवेल के समानांतर टनल खोदी गई।

Live Blog

15:46 (IST)11 Jun 2019
5 दिन चला ऑपरेशन, फिर भी नहीं मिली कामयाबी

2 साल के मासूम फतेहवीर को बोरवेल से बाहर निकालने के लिए जिला प्रशासन 5 दिन से ऑपरेशन चला रहा था, लेकिन कामयाबी हाथ नहीं लगी। रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान उसे ऑक्सीजन मुहैया कराने में कामयाबी मिल गई थी, लेकिन उस तक खाना और पानी नहीं पहुंच पाया।

14:00 (IST)11 Jun 2019
2006 के दौरान बोरवेल में गिरा था प्रिंस

बता दें कि हरियाणा के कुरुक्षेत्र में रहने वाला प्रिंस 2006 में बोरवेल में गिरा था।  उस बोरवेल की गहराई 60 फुट थी और प्रिंस को 2 दिन में बाहर निकाल लिया गया था। उस वक्त प्रिंस महज 4 साल का था। अब प्रिंस 17 साल का हो चुका है।

12:55 (IST)11 Jun 2019
प्रिंस ने भी की थी फतेहवीर के लिए प्रार्थना, कही यह बात

देश में जब भी किसी बच्चे के बोरवेल में गिरने की खबर आती है तो कुरुक्षेत्र के प्रिंस का नाम अपनेआप जुबां पर आ जाता है। 13 जुलाई 2006 को प्रिंस 60 फुट गहरे बोरवेल में गिर गया था, उस वक्त वह 4 साल का था। अब प्रिंस 17 साल का हो गया है। जब उसने फतेहवीर के बोरवेल में गिरने की खबर सुनी तो बच्चे की सलामती के लिए प्रार्थना की। हालांकि, वह सफल नहीं हुई। बोरवेल से निकाले जाने के कुछ देर बाद ही फतेहवीर की मौत हो गई। ऐसे में प्रिंस ने कहा कि प्रशासन इस तरह की गलतियों से कुछ नहीं सीख रहा है।

12:08 (IST)11 Jun 2019
रेत गिरने से बढ़ी दिक्कत

जानकारी के मुताबिक, बच्चे को बचाने के लिए सबसे नीचे डाले गए लोहे के पाइप से खिड़की खोलकर सुरंग बनाने का प्रयास किया गया। हालांकि, यह सफल नहीं हुआ, क्योंकि बार-बार रेत गिरने से सुरंग भर रही थी। ऐसे में बचाव अभियान में देरी हुई।

11:59 (IST)11 Jun 2019
गलत दिशा में खुद गई सुरंग

बताया जा रहा है कि सुरंग खोदने में हुई गलती के कारण फतेहवीर की जान नहीं बच पाई। बता दें कि रेस्क्यू ऑपरेशन में प्रशासन की टीम के साथ वॉलंटियर्स, एनडीआरएफ और आर्मी की 119 असॉल्ट इंजीनियरिंग टीम ने काम किया। जिस बोरवेल में बच्चा गिरा था, उसके पास 41 इंच चौड़ी टनल बनाई गई। मशीनों से काम करना मुश्किल होने पर हाथों से खुदाई की गई। हालांकि, यह टनल गलत दिशा में खुद गई, जिससे रेस्क्यू ऑपरेशन में देर हो गई।

11:33 (IST)11 Jun 2019
पुलिस ने भी चलाया अभियान

बोरवेल में बच्चे के गिरने की सूचना के बाद पुलिस ने भी बचाव कार्य शुरू कर दिया। इसके लिए बोरवेल के समानांतर टनल खोदी गई, जिससे बच्चे तक पहुंचा जा सका। हालांकि, इस अभियान में काफी देर हो गई और उसे बचाया नहीं जा सका।

11:14 (IST)11 Jun 2019
काफी मन्नतों के बाद हुआ था फतेहवीर

फतेहवीर की मौत के बाद परिजनों का रो-रोकर बुरा हार है। उन्होंने बताया कि फतेहवीर काफी मन्नतों के बाद हुआ था।

11:02 (IST)11 Jun 2019
10 जून को था फतेहवीर का दूसरा बर्थडे

परिजनों ने बताया कि 10 जून को फतेहवीर का दूसरा बर्थडे था। 11 जून की सुबह वह बाहर निकला तो सभी के चेहरे पर मुस्कान आ गई थी, लेकिन यह ज्यादा देर तक नहीं ठहर सकी और वह हमेशा के लिए अलविदा कह गया।

10:55 (IST)11 Jun 2019
बच्चे की मौत से संगरूर के लोग दुखी, शुरू किया प्रदर्शन

2 साल के फतेहवीर सिंह की मौत के बाद संगरूर के लोग दुखी हैं। उन्होंने राज्य सरकार पर मामले में लापरवाही बरतने का आरोप लगाया और प्रदर्शन शुरू कर दिया है। बता दें कि 6 जून फतेहवीर सिंह 150 फुट गहरे बोरवेल में गिर गया था।

10:50 (IST)11 Jun 2019
8 जून से तेज हुआ था अभियान

घटना के लगभग 40 घंटे बाद शनिवार (8 जून) सुबह करीब 5 बजे बच्चे के शरीर में हरकत देखी गई थी, जिसके बाद बोरवेल में ऑक्सीजन की सप्लाई बढ़ा दी गई। वहीं, एनडीआरएफ के 26 सदस्य अभियान में जुटे थे।

10:27 (IST)11 Jun 2019
बोरवेल से निकाला गया, तब फतेहवीर के शरीर पर थी सूजन

जब बच्चे को बोरवेल से निकाला गया, तब उसकी हालत काफी नाजुक थी। ऐसे में उसे बठिंडा अस्पताल में एडमिट कराया गया। यहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

10:18 (IST)11 Jun 2019
जानकारी मिलते ही पहुंची NDRF की टीम

बताया जा रहा है कि मामले की जानकारी मिलते ही एनडीआरएफ की टीम मौके पर पहुंच गई और बचाव कार्य शुरू कर दिया। इस दौरान एनडीआरएफ के करीब 26 सदस्य लगातार घटनास्थल पर बने रहे।

10:17 (IST)11 Jun 2019
6 जून को बोरवेल में गिरा था फतेहवीर

संगरूर में रहने वाला 2 साल का बच्चा फतेहवीर सिंह गुरुवार (6 जून) शाम करीब 4 बजे घर के बाहर खेल रहा था। उस दौरान वह बोरवेल में गिर गया था।

10:13 (IST)11 Jun 2019
सीएम कैप्टन अमरिंदर ने जताया दुख, कही यह बात

फतेहवीर सिंह की मौत की खबर पर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने दुख जताया है। इस संबंध में उन्होंने ट्वीट भी किया। उन्होंने लिखा, ‘‘फतेहवीर की मौत की खबर सुनकर दुख हुआ। मैं वाहेगुरु से प्रार्थना करूंगा कि वह उसके परिवार को इस दुख से निपटने की हिम्मत दे। राज्य में किसी भी खुले बोरवेल के संबंध में सभी डीसी से रिपोर्ट मांगी गई है, जिससे भविष्य में इस तरह की भयानक दुर्घटनाओं को रोका जा सके।’’

X