ताज़ा खबर
 

पंचायत चुनाव: उत्साह व जोश के बीच तीसरे चरण में बरसे वोट

जनपद में प्रधानी चुनाव के तीसरे चरण का मतदान छिटपुट घटनाओ के बीच शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हो गया। फतेहपुर और खागा तहसील के ब्लाक भिटौरा, हसवा, व हथगाम क्षेत्र के ग्राम प्रधान व सदस्य पद के लिए मतदाताओं ने 71.7 फीसद मताधिकार का प्रयोग किया..

Author फतेहपुर | Published on: December 8, 2015 11:27 PM
प्रतीकात्मक तस्वीर (पीटीआई फोटो)

जनपद में प्रधानी चुनाव के तीसरे चरण का मतदान छिटपुट घटनाओ के बीच शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हो गया। फतेहपुर और खागा तहसील के ब्लाक भिटौरा, हसवा, व हथगाम क्षेत्र के ग्राम प्रधान व सदस्य पद के लिए मतदाताओं ने 71.7 फीसद मताधिकार का प्रयोग किया। मतदान केंद्रों में महिलाओं के साथ-साथ पुरुष व बडे बुजुर्गो की भीड़ लगी रही। सभी मतदाता लाइन में लग कर अपनी बारी का इंतजार करते दिखे।

जिलाधिकारी राजीव रौतेला, पुलिस अधीक्षक राजीव मल्होत्रा के साथ पर्यवेक्षक ने कई मतदान केंद्रों का जायजा लिया। सभी ब्लाकों के 783 मतदेय स्थलों में पीठासीन अधिकारी व तीन मतदान अधिकारी सुबह से ही बूथों में बैठ गए। बताया जाता है कि मतदान केंद्रों में सुबह सन्नाटा जैसा रहा लेकिन धीरे-धीरे मतदाताओं में उत्साह दिखा। ग्राम प्रधान पद के लिये 2063 उम्मीदवारों का भाग्य मतपेटियों में कैद हो गया। वहीं ग्राम पंचायत सदस्य पद के करीब 3578 उम्मीदवारों की किस्मत भी मतपेटी में बंद हो गई। मतदान केंद्रों पर भारी पुलिस बल तैनात रहा। अतिसंवेदनशील व संवेदनशील मतदान केन्द्रों में दरोगा के साथ सिपाही मुस्तैद रहे।

तीन ब्लाकों के करीब चार लाख मतदाताओं में 71.3 फीसद मतदाताओं ने मताधिकार का प्रयोग किया। ग्राम प्रधान पद के लिए हुये मतदान में लोगों में जोश देखा गया। बुजुर्ग महिलाओं यहां तक कि विकलांगों ने भी मताधिकार का प्रयोग किया। अपनी वील चेयर व साइकिल में बैठ कर विकलांग मतदान केंद्र पहुंचे और अपने पसंद के उम्मीदवार को वोट दिया। कई बूथों में देर शाम तक मतदाताओं की लाइन लगी रही। हसवा ब्लाक के रमवां पन्थवा में फर्जी वोट डालने को लेकर विवाद हो गया और दो पक्षों में मारपीट हुई। पुलिस ने मौके पर पहुंच कर मामले को शांत कराया। इस मतदान केंद्र में लेखपाल ओमप्रकाश पटेल एक उम्मीदवार के पक्ष में फर्जी वोट डलवा रहा था। जिसका विरोध करने पर विवाद हो गया और दोनो पक्षों में जम कर मारपीट हुई। जोनल मजिस्टेÑट व सेक्टर मजिस्ट्रेट बराबर दौरा करते रहे। वहीं मतदान के बाद मतदानकर्मियों ने मतपेटियों को सील किया। उसके बाद देर रात तक मतपेटियों के स्ट्रांग रूम में जमा करने का सिलसिला जारी रहा।

चुनावी रंजिश में दो पक्षों में झड़प, अधेड़ की मौत, कई घायल:

असोथर थाना क्षेत्र के ग्राम पुरबुजुर्ग में चुनावी रंजिश को लेकर दो उम्मीदवारों के समर्थकों के बीच विवाद के बाद चले लाठी-डंडे व धारदार हथियारों से दोनों पक्षों से एक दर्जन लोग घायल हो गए। उन् हें उपचार के लिए जिला चिकित्सालय लाया गया। एक की हालत गंभीर देख कानपुर के लिए रेफर कर दिया गया। जहां गेंदालाल की मौत हो गयी। घटना की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने मामले को शांत कराया।

जानकारी के अनुसार तीसरे चरण में हुए चुनाव में उम्मीदवार वीरेंद्र यादव व दूसरे पक्ष के उ्मादवार चंदन प्रधान के समर्थकों के बीच किसी बात को लेकर कहासुनी हो गयी। देखते ही देखते बात इतनी बढ़ गई कि दोनों पक्ष लाठी डंडा व धारदार हथियार लेकर आमने सामने हो गए और एक दूसरे पर प्रहार करने लगे। जिसके फलस्वरूप एक पक्ष के हीरालाल, धीरेंद्र, लवकुश, चिम्मन, शिव भोले, योगेन्द्र व सीताराम घायल हो गये। वहीं दूसरे पक्ष से गेंदालाल रूपनारायण, कंचन, गोरेलाल घायल हो गए।

जानकारी पाते ही भारी पुलिस बल मौके पर पहुंच गया और समझा बुझाकर मामले को शांत कराया। घायलों को उपचार के लिए जिला चिकित्सालय भेजा। जहां गेंदालाल की हालत चिंताजनक देखते हुए चिकित्सक ने कानपुर मेडिकल कालेज के लिए रेफर कर दिया। बताया जा रहा है कि पुलिस ने चंदन के भाई सहित एक दर्जन लोगों को हिरासत में लेकर थाने ले गई। गांव में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories