ताज़ा खबर
 

फैशन डिजाइनिंग की स्टूडेंट ने लूटपाट के लिए बनाया गिरोह, रिटायर्ड आर्मी अफसरों तक को बनाया निशाना

पुलिस के मुताबिक इन चारों ने मौज-मस्ती के लिए यह आपराधिक काम शुरू किया था, जिसमें लड़की का इस्तेमाल लिफ्ट मांगने के लिए किया जाता था।

प्रतीकात्मक तस्वीर।

पुलिस ने उत्तर प्रदेश के नोएडा में सक्रिय बदमाशों के एक गिरोह का पता लगाया है। इस गिरोह में कुल चार लोग शामिल हैं, जिनमें एक लड़की भी है। लड़की एमिटी यूनिवर्सिटी से फैशन डिजाइनिंग का कोर्स कर रही है। इसके साथ ही वह पार्ट टाइम जॉब के तौर पर एक कॉल सेंटर में भी काम करती थी। ये चारों मिलकर नोएडा में लिफ्ट के बहाने पिस्टल दिखाकर लूटपाट करते थे। पुलिस के मुताबिक, इन चारों ने मौज-मस्ती के लिए यह आपराधिक काम शुरू किया था, जिसमें लड़की का इस्तेमाल लिफ्ट मांगने के लिए किया जाता था।

ताजा वाकया शनिवार रात का है, जब इन चारों ने एक रिटायर्ड ब्रिगेडियर और विंग कमांडर को निशाना बनाया। पहले से निर्धारित प्लान के मुताबिक, लड़की और उसके एक साथी बदमाश ने इस बार भी लिफ्ट के बहाने घटना को अंजाम दिया। इसके बाद दो बदमाश अपनी कार से, जबकि दो अन्य लुटी हुई कार से भागन लगे। तभी एक युवक अपनी मोटरसाइकिल से इनका पीछा करने लगा। पीछा होता देख ये लोग घबरा गए और हड़बड़ी में उनकी कार एक पेड़ से टकरा गई। इसके बाद घटना स्थल पर मौजूद लोगों ने दो को दबोच लिया, जबिक अन्य दो भाग जाने में सफल रहे।

एसपी सिटी अरुण सिंह ने बताया कि दो बदमाशों मिन्हास और सैफू को गिरफ्तार कर लिया गया, जबकि दो अन्य नितिन पवार और निधि अभी भी फरार हैं। गिरफ्तार किए गए दो बदमाशों मिन्हास और सैफू से पुलिस ने गहरी पूछताछ की है। एसपी सिटी ने पूछताछ के बाद बताया है कि सैफू आईआईएमटी से कम्प्यूटर साइंस में बीटेक कर रहा है और वह ग्रेटर नोएडा के गामा वन में रहता है।

वहीं, एक अन्य गिरफ्तार बदमाश सैफू सीसीए थर्ड ईयर का स्टूडेंट है। वह मूलरूप से बिहार के भागलपुर जिले का रहने वाला है। पुलिस ने बताया है कि सैफू पर पहले भी आपराधिक मामले दर्ज हुए हैं जिनकी जांच की जा रही है। वहीं, फरार आरोपी नितिन नोएडा सेक्टर-16 में कॉल सेंटर चलाता है। उसने जीएल बजाज कॉलेज से बीसीए की पढ़ाई की हुई है। नितिन और निधि लिव-इन में आम्रपाली सफायर सोसाइटी में रहते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App