ताज़ा खबर
 

जिसे अपने खेत की याद आ रही वो शीशी में ले आए खेत की मिट्टी, राकेश टिकैत बोले- दर्पण की तरह देखते रहो

सभी दौर की बातचीत विफल रहने के बाद किसानों ने 26 जनवरी को ट्रैक्टर मार्च निकालने का ऐलान किया है।

rakesh tikait, naresh tikait, bhartiya kisaan unionभाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत।

केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन दिल्ली से सटी सीमाओं पर जारी है। सभी दौर की बातचीत विफल रहने के बाद किसानों ने 26 जनवरी को ट्रैक्टर मार्च निकालने का ऐलान किया है। इसे लेकर एक पत्रकार ने “भारतीय किसान यूनियन” के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत से एक सवाल किया। जिसके जवाब में उन्होने कहा कि जिस किसान को खेत की याद आ रही वो शीशी में अपने खेत की मिट्टी ले आए।

दरअसल राकेश टिकैत से एक पत्रकार ने पूछा कि जैसे रामायण में भगवान राम को जब वनवास मिला था। तो वे अयोध्या की मिट्टी अपने साथ लेकर गए थे। तो क्या अप लोग भी अपने खेतों की मिट्टी लेकर आएंगे। इसपर टिकैत ने कहा “हमें नहीं पता वे लेकर गए थे या नहीं। लेकिन अगर ऐसा है और उनको अपने खेत की याद सताये तो वे शीशी में खेत की मिट्टी ले आए और उसे प्यार से देखें।”

टिकट ने कहा कि प्यार से देखोगे तो अपना फार्म हाउस, घर, खेत सब दिखेगा उस मिट्टी में। टिकाई ने कहा कि सरकार कह रही है कि बातचीत चल रही है। मैं कह रहा हूं बात हो ही नहीं रही। ये सरकार लोगों को संदेश देने की कोशिश कर रही है। आप बातचीत का लाइव टेलीकास्ट कराओ। सब पता चल जाएगा।

किसानों की ट्रैक्टर रैली का दिल्ली पुलिस विरोध कर रही है। सोमवार को इसी मसले पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई, तो चीफ जस्टिस ने टिप्पणी की है कि मार्च या धरने की इजाजत देना कोर्ट नहीं पुलिस का काम है। सर्वोच्च अदालत ने कहा कि रामलीला मैदान में प्रदर्शन की इजाजत पर पुलिस को फैसला करना है। साथ ही अदालत ने कहा कि शहर में कितने लोग, कैसे आएंगे ये पुलिस तय करेगी।

यहां देखें वीडियो-

चीफ जस्टिस ने कहा कि क्या अब अदालत को बताना होगा कि सरकार के पास पुलिस एक्ट के तहत क्या शक्ति है। हालांकि, जब सॉलिसिटर जनरल की ओर से गणतंत्र दिवस का हवाला देकर अदालत के निर्देश की अपील की तो अब इसपर विस्तार से बुधवार को सुनवाई की जाएगी।

Next Stories
1 यूपी: कोरोना टीका लगवाने के बाद हॉस्पिटल कर्मचारी की मौत, 24 घंटे पहले ली थी वैक्सीन की खुराक
2 PM नरेंद्र मोदी का गुजरात को बड़ा तोहफा, अहमदाबाद-सूरत मेट्रो प्रोजेक्ट का किया शिलान्यास
3 चुनाव जीते तो दिलीप घोष होंगे बंगाल के अगले सीएम, सांसद के दावे पर भाजपा में रार, कई वरिष्ठ नेता भी नाराज
ये पढ़ा क्या?
X