ताज़ा खबर
 

तुम सारे कांग्रेसी आंदोलन में रोटियां सेंक रहे हो…यहां मुकर रहे हो, डिबेट में सुप्रिया श्रीनेत पर भड़के भाजपा नेता धनखड़

कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने कहा कि पीएम मोदी ने रैलियों के जरिये किसानों को समझाने की कोशिश की। उन्होंने कहा कि रैलियों से कानून नहीं बनता है।

farmers protest, farms law, congress spokesperson, supriya shrinet, op dhankarभाजपा नेता ओपी धनखड़ (बाएं) और कांग्रेसी प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत। (फाइल फोटो)

कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसान रविवार को लगातार 18 वें दिन दिल्ली से लगती तमाम सीमाओं पर डटे हुए हैं। सिंघू बॉर्डर पर किसानों का प्रदर्शन लगातार जारी है और यहां उनकी संख्या लगातार बढ़ती जा रही है।

इन सब के बीच कांग्रेस और भाजपा नेताओं के बीच टीवी पर रोज जुबानी जंग देखने को मिल रही है। टीवी डिबेट में हरियाणा के भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ओपी धनखड़ ने कांग्रेस नेताओं पर किसानों के आंदोलन का फायदा उठाने का आरोप लगाया। भाजपा नेता ने कहा कि तुम सभी कांग्रेसी किसानों के आंदोलन में अपनी रोटियां सेंक रहे हो। यह पूरा देश देख रहा है। तुम लोग आंदोलन में रोटियां सेंकते हो और टीवी पर अपनी बात से मुकर जाते हो।

दरअसल भाजपा नेता कांग्रेस की महिला प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत के उस बयान को लेकर भड़क गए थे जिसमें केंद्र की तरफ से किसानों की इज्जत नहीं करने की बात कही गई थी। कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने कहा कि पीएम मोदी ने रैलियों के जरिये किसानों को समझाने की कोशिश की।

उन्होंने कहा कि रैलियों से कानून नहीं बनता है…रैलियों से तो पीएम मोदी देश के लोगों को 15-15 लाख रुपये, हर साल 2 करोड़ रोजगार भी दे रहे थे। उन्होंने कहा कि बोलने से कानून नहीं बनता है, कानून तो संसद के भीतर बनेगा। कांग्रेसी नेता ने कहा कि सरकार इस मुद्दे पर न तो बड़े दिल से हल निकालना चाहती है ना सच्चे मन से चाहती है।

उन्होंने इस संदर्भ में भाजपा नेताओं की तरफ से प्रदर्शनकारियों को माओवादी, खालिस्तानी, नक्सलवादी और राष्ट्रविरोधी, टुकड़े-टुकड़े गैंग कहे जाने का भी जिक्र किया। कांग्रेसी नेता ने रेल मंत्री पीयूष गोयल के नक्सलवादी वाले बयान का भी उदाहरण दिया।

सुप्रिया श्रीनेत ने निर्मला सीतारमण के उस बयान का भी जिक्र किया जिसमें प्रदर्शन कर रहे लोगों को नाजायज मांग के साथ भटके हुए लोग बताया गया था। उन्होंने कहा कि सरकार को सबसे पहले इनके प्रति पहले थोड़ी सहानुभूति और इज्जत दिखानी चाहिए।

Next Stories
1 दिल्ली के सीएम के घर के बाहर तोड़फोड़, आप का दावा-भाजपा नेताओं ने केजरीवाल के घर के सीसीटीवी तोड़े; देखें VIDEO
2 बोडोलैंड चुनाव: भाजपा ने NDA की साथी पार्टी बोडो पीपुल्स फ्रंट का छोड़ा साथ, बहुमत के लिए बना लिया अलग गठबंधन
3 शरद पवार के बर्थडे पर केक के लिए मची लूट-मारामारी, कोरोना नियमों का भी जमकर हुआ उल्लंघन
ये पढ़ा क्या?
X