ताज़ा खबर
 

किसानों का हल्लाबोलः राजनाथ सिंह का पुराना बयान शेयर कर AAP ने पूछा- झूठा दावा करने वाले केंद्रीय मंत्री कहां हैं?

पुराने वीडियो से पता चलता है कि राजनाथ सिंह तत्कालीन यूपीए शासन के दौरान दिल्ली में किसानों के प्रदर्शन में पहुंचे थे।

farmers protestरक्षामंत्री राजनाथ सिंह। (पीटीआई)

कृषि बिलों के खिलाफ किसानों के विरोध प्रदर्शन के बीच आम आदमी पार्टी (AAP) ने रविवार को रक्षामंत्री राजनाथ सिंह का एक पुराना वीडियो शेयर किया। इसमें वो किसानों के एक प्रदर्शन में नजर आ रहे हैं और तब की सरकार से अन्नदाताओं की बात सुनने की अपील करे रहे हैं। वीडियो वो कहते हैं कि देश में कहीं भी किसान बैठा है तो बिल्कुल नहीं देखना चाहिए कि वो किस पार्टी या संगठन से जुड़ा है। यही पुराना वीडियो शेयर आप ने रक्षामंत्री पर तंज कस कर कहा कि देश का किसान पूछता है कि किसानों के साथ हर धरने, आंदोलन में हाजिर होने का झूठा दावा करने वाले केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह कहां है?

पुराने वीडियो से पता चलता है कि राजनाथ सिंह तत्कालीन यूपीए शासन के दौरान दिल्ली में किसानों के प्रदर्शन में पहुंचे। जहां उन्होंने किसानों को संबोधित करते हुए कहा था कि देश में कहीं भी किसान बैठा है, वहां बिल्कुल नहीं देखना चाहिए कि वो किसान किस पार्टी या किस संगठन से जुड़ा है। खुद मैं उस जगह पर हाजिर होने की कोशिश करता हूं। राजनाथ सिंह कहते हैं, ‘आज मुझे किसानों के बीच आने का अवसर मिला। किसानों के बीच मुझे खुशी हो रही है। मगर खुले आसमान के नीचे पिछले तीन दिनों से किसानों को धरना देना पड़ रहा है जो बहुत दुख की बात है।’

वीडियो में भाजपा नेता आगे कहते नजर आते हैं कि इतने दिन हो गए बगल में संसद भवन है। पीएम को भी खुफिया विभाग द्वारा जानकारी मिल चुकी होगी। मगर उन्होंने किसी को भेजकर किसानों समस्या जानने की जहमत नहीं उठाई। पीएम को सच्चाई समझनी चाहिए कि हिंदुस्तान का किसान एकजुट होकर सड़कों पर आ जाएगा तो दुनिया की कोई ताकत उसके हौसले को पस्त नहीं कर सकती।

आप के ट्वीट पर सोशल मीडिया यूजर्स भी जमकर भी प्रतिक्रिया दे रहे हैं। चेतन गोयल @ChetanGoyal00 लिखते हैं, ‘गजब है एक किसान पूर्व प्रधानमंत्री को मारने पर गर्व महसूस करता है। तत्कालीन प्रधानमंत्री को मारने की बात करता है। तलवारे लहराता है, पुलिस से लड़ता है, इनकम टैक्स नहीं देना चाहता है, सब्सिडी पर खाद लेना चाहता है, कृषि लोन लेना है, पर चुकाना नहीं है वाह देश के किसान।’

कल्पना उपाध्याय @kalpanaupadhya3 लिखती हैं, ‘भाजपा का बिल किसान और ग्राहक के बीच में से आढ़तिये दलाल और बिचौलियों को हटा कर दूरी कम करने का प्रयास है ताकि किसान को फसल की सही कीमत मिले और ग्राहक को महंगाई की मार ना झेलनी पड़े। पर राजनीतिक फायदे के लिए AAP लोगों को भड़का रही है MSP तो आज भी है पर किसान को नहीं मिलती।’

इसी तरह रोहित @rohitsahai_ लिखते हैं, ‘भारत मे जितनी भी किसान यूनियन और किसान नेता हैं कितना योगदान है उनका कृषि का उत्पादन बढ़ाने मे या नयी तकनीक और उपकरण खेती मे लाने का? सब राजनीति करते हैं 70 सालों से क्या किया इन नेताओं या यूनियन ने? किसानों जागो नेताओं से बचो। किसान नेताओं की पूंजी देखो सब समझ आ जाएगा।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 भाग्य लक्ष्मी मंदिर पहुंचे अमित शाह, क्या चार मीनार से सटे इस धर्म स्थल से खुलेगा हैदराबाद में BJP का भाग्य? जानिए राजनीतिक महत्व
2 UP में धर्मांतरण कानून के बाद पहली FIR, आरोपी बना रहा था छात्रा पर धर्म बदलने का दबाव
3 हरियाणा सरकार ने गलत किया?- एंकर ने दागा सवाल तो भड़क उठे BJP सांसद, शो छोड़ने की धमकी दे कहने लगे- हमसे बात मत करिए…
ये पढ़ा क्या ?
X